शासकीय स्नातक महाविद्यालय पुष्पराजगढ़ को नैक मूल्यांकन में मिला ग्रेड-सी


मप्र/अनूपपुर। पुष्पराजगढ़ जनपद में संचालित शासकीय महा विद्यालय पुष्पराजगढ़ ने उच्च शिक्षा में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। शासकीय स्नातक महाविद्यालय पुष्पराजगढ़ में 26 व 27 जून को राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद द्वारा महाविद्यालय के अध्ययरत विद्यार्थियो की प्रगति, अध्यापन में गुणवत्ता एवं नवीनता, खेल, पुस्तकालय एवं प्रबंधन इत्यादि महाविद्यालयीन कई गतिविधियों का मूल्यांकन किया। मूल्यांकन हेतु नैक ने पियर टीम का गठन किया था, जिसके चेयर पर्सन डॉ. शशिकुमार धीमान (पूर्व कुलपति टेक्निकल यूनिवर्सिटी शिमला हिमांचल प्रदेश) मेंबर समन्वयक डॉ. लिम्बादरी रिक्का (वाइस चेयरपर्सन, तेलंगाना स्टेट काउन्सिल ऑफ हायर एजुकेशन हैदराबाद), सदस्य के रूप में डॉ. उन्नीकृष्णन कृष्णन नायर (प्राचार्य, एनएसएस कालेज पंडालम केरल) एवं पर्यवेक्षक के रूप में डॉ. एन.पी. दीक्षित (पूर्व कुलपति दुर्ग विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़)थे। दो दिन के गहन निरीक्षण एवम सतत मूल्यांकन में महाविद्यालय के समस्त कर्मचारी एवं अधिकारी द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका अदा की गई। शासकीय महाविद्यालय पुष्पराजगढ़ को अनूपपुर जिले के प्रथम नैक एक्रेडिएटेड महाविद्यालय होने का गौरव प्राप्त हुआ है। महाविद्यालय को नैक टीम के मूल्यांकन उपरांत ग्रेड सी प्राप्त हुआ है। महाविद्यालय की इस उपलब्धि पर कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने पूरी टीम को बधाई दी है।