राज्य सरकार द्वारा डीजल पट्रोल पर 5 फीसदी वैट बढ़ाने पर बीजेपी ने याद दिलाया बचन पत्र


भोपाल /मध्य प्रदेश में पेट्रोल, डीजल और शराब पर कमलनाथ सरकार के 5 फीसदी वैट लगाते ही भारतीय जनता पार्टी ने इसे सियासी हथियार बना लिया है. बीजेपी प्रवक्ता से लेकर पार्टी नेताओं तक ने सोशल मीडिया पर कमलनाथ के पुराने भाषण से लेकर विधानसभा चुनाव के वक्त दिए गए वचन की याद दिलाई है.दरअसल, विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने अपने वचनपत्र में पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले वैट की दरों को कम करने का वादा किया था, लेकिन शुक्रवार शाम पेट्रोल-डीजल और शराब पर 5 फीसदी वैट बढ़ा दिया. बीजेपी इसे मध्य प्रदेश की जनता के साथ धोखा बता रही है.बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने विधानसभा चुनाव के पहले का कमलनाथ का एक पुराना वीडियो ट्वीट किया है जिसमे  पेट्रोल-डीजल से वैट हटाने की बात कहते दिख रहे हैं. साथ ही कैलाश विजयवर्गीय ने लिखा है 'जेबकतरी सरकार !!! कमलनाथ सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर 5% वैट बढ़ाकर लोगों की कमर तोड़ दी! इससे महंगाई कितनी बढ़ेगी, शायद उन्हें इस बात का अहसास नहीं है! तर्क ये दिया जा रहा है कि बाढ़ प्रभावितों को राहत देने के लिए वैट बढ़ाया गया है! बेहतर हो कि सरकार अपने खर्च घटाए'.
,वही  पेट्रोल-डीजल पर 5 फीसदी वैट बढाने पर चौतरफा घिरी कांग्रेस ने इसे सूबे में आई बाढ़ से जोड़ दिया है.  और बताय की  वैट एक अस्थायी उपाय है. ये सिर्फ कुछ समय के लिए लगाया गया है ताकि टैक्स की राशि से बाढ़ पीड़ितों की मदद की जा सके और उनकी राहत के लिए राशि जुटाई जा सके.