जैतहरी सीईओ के खिलाफ मामला पंजीबद्ध

आधी रात में जागा  प्रसाशन अनशनरत सरपंच को एसडीएम ने दूध पिलाकर तोड़वाया अनशन ,जनपद पंचायत जैतहरी |सीईओ इमरान सिद्धकीद्वारा सचिव सुंदरलाल राठौर के माध्यम से ७० हजार रूपए मांग की शिकायत की गई, जहां कलेक्टर ने आवेदन की जांच एसडीएम अनूपपुर को सौंपा गया. शिकायत में सरपंच ने शिकायत कर बताया था की २६ अप्रैल की शाम लगभग ३.१५ बजे रिश्वत के ७० हजार न देने पर ग्राम पंचायत वेंकटनगर पहुंचे, जहां पंचायत के रिकार्ड निकलवाते हुए सचिव सुंदर लाल राठौर, भृत्य रामशुभा सहित अन्य लोगो के |सामने ७० हजार की बात कहते हुए जातिगत अपमानित किया था, जहां एसडीएम अनुपपुर द्वारा मामले की जांच करते हुए प्रतिवेदन कलेक्टर को सौंप दिया था। जिसके बाद जांच प्रतिवेदन में सरपंच वेंकटनगर की शिकायत सत्य पाई गई।



अनूपपुर /इमरान सिद्धिकी सीईओ द्वारा जातिगत अपशब्दो का प्रयोग कर अपमानित करने पर एफआईआर कराने की मांग को लेकर ग्राम पंचायत बैंकटनगर सरपंच दादूराम पनिका  १ नवम्बर को आमरण अनशन पर बैठ गए थे। जहां अनशन के तीसरे दिन ३ नवम्बर को अनशन पर बैठे सरपंच को अचानक तबियत बिगड़ जाने पर प्रशासनिक अमला अनशन स्थल पर पहुंचकर सरपंच को लगातार अनशन तोड़ने एवं उनकी मांग पर जल्द कार्यवाही करने का आश्वासन दिए लेकिन सरपंच बिना कार्यवाही के अनशन तोड़ने से  इंकार कर दिया। जिसके बाद आनन् फानन  में प्रशासन ने तत्कालीक जनपद सीईओ ईमरान सिद्धकी के खिलाफ जैतहरी थाना में धारा २९४, ३ (१) (द).३ (१)(घ), एससीएसटी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया है, जिसके बाद रात लगभग १.५० पर एसडीएम जैतहरी कमलेश पुरी एवं एसडीओपी अनूपपुर उमेश गर्ग ने सरपंच दादूराम पनिका को दूध पिलाकर अनशन तोड़वाया। तबियत बिगड़ने के बाद जागा प्रशासन तीन दिनो तक आमरण अनशन पर बैठे सरपंच दादूराम पनिका की हालत भूख के कारण बिगड़ गई, जहां ३ नवम्बर को डॉक्टर मुकेश द्विवेदी अनशन स्थल पर बाद पहुंचकर चिकित्सकीय परीक्षण करते हुए अनशन स्थल पर ही लेटा कर उन्हें ड्रीप चढ़ाते हुए बताया की सरपंच के लगातार भूखे रहने के कारण उनके शरीर में पानी एवं नमक की कमी हो गई है जिसके कारण डिहाइड्रेशन हो रहा है एवं चमड़ी में खिंचाव कम हो रहा और कमजोरी आ रही है। जिसकी सूचना प्रशासन को लगते ही तत्काल अनशन स्थल पर प्रशासन पहुंचकर उनकी मांगो पर जल्द ही कार्यवाही का आश्वासन देते रहे। लेकिन सरपंच दादराम पनिका ने मांग पूरी होने के बाद ही अनशन तोड़ने  की बात प्रशासनिक अधिकारियों से कही। इस बीच पुलिस एवं प्रशासन दोनो लगभग घटे तक सरपंच को अनशन " रात तोडने के लिए मानते  रहे। पूरे मामले में ग्राम पंचायत वेंकटनगर सरपंच ने जनपद जैतहरी सीईओ इमरान  सिद्धकी द्वारा मांग गए रिश्वत एवं जातिगत अपशब्दो से अपमानित किए  जाने के मामले में न्याय पाने सरपंच का साथ पूरा ग्राम पंचायत ने  दिया,मामले में प्रशासन के पास हुई शिकायत हुई, शिकायत की जांच एसडीएम अनूपपुर द्वारा करते हुए प्रतिवेदन जिला पचायत पंचायत सीईओ के पास प्रस्तुत किया गया। जहां जिला पंचायत सीईओ ने अपने शिकायत पत्र क्रमांक ३८९२/१९ दिनांक ३ नवम्बर को जनपद सीईओ इमरान सिद्धकी के विरूद्ध दस्तावेज सहित कार्यवाही हेतु पुलिस अधीक्षक अनूपपुर को प्रेषित की गई।जहां पुलिस अधीक्षक ने विधि अनुरूप कार्यवाही करने निर्देशित किया गया जिसमें एसडीएम अनूपपुर के जांच प्रतिवेदन व संलग्न दस्तावेज सहित सरपंच के आवेदन पत्र को संलग्न किया गया जिसके बाद जनपद सीईओ ईमरान सिद्धकी के खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया गया।