कलेक्टर से लिखवा कर लाओ तब मिलेगी नौकरी ,पावर प्लांट प्रबंधक नौकरी से कर रहा आनाकानी

आवेदक शिवप्रसाद ने बताया कि उसकी जमीन प्रशासन द्वारा अधिग्रहित कर मोजरबेयर पावर प्लांट को दिया गया था, जो मेरे परिवार और मेरे लिए यहीं निर्वह का साधन था। भू-अर्जन के दौरान प्रशासन ने नौकरी दिए जाने का आश्वासन भी दिलाया गया था, लेकिन चार साल बीत चुके हैं। पावर प्लांट प्रबंधक आज-कल कर मुझे भटका रहा है



अनूपपुर। मंगलवार २४ दिसम्बर को आयोजित साप्ताहिक जनसुनवाई में जैतहरी विकासखंड के गुंवारी गांव निवासी ने अपर कलेक्टर से अपनी जमीन के पावर प्लांट द्वारा किए गए अर्जन और अबतक नौकरी नहीं दिए जाने से नाराजगी जताते हुए न्याय नहीं तो मौत दिलाए जाने की मांग की। जिसपर अपर कलेक्टर ने आवेदक की समस्याओं को सुना। आवेदक शिवप्रसाद ने बताया कि उसकी जमीन प्रशासन द्वारा अधिग्रहित कर मोजरबेयर पावर प्लांट को दिया गया था, जो मेरे परिवार और मेरे लिए यहीं निर्वह का साधन था। भू-अर्जन के दौरान प्रशासन ने नौकरी दिए जाने का आश्वासन भी दिलाया गया था, लेकिन चार साल बीत चुके हैं। पावर प्लांट प्रबंधक आज-कल कर मुझे भटका रहा है। कंपनी द्वारा बोला गया कि कलेक्टर से लिखवा कर लाओ तब नौकरी मिलेगी। कलेक्टर कार्यालय से पत्र भी लिखकर कंपनी को पेश किया गया, बावजूद कंपनी प्रबंधन नौकरी देने में आनाकानी कर रहा है। मेरे सारे रेकार्ड कागज कार्रवाई पूरी तरह से कंपनी के पास जमा है। वहीं गांव के अन्य किसान रोहिणी राठौर ने भी न्याय नहीं तो मौत की मांग करते हुए उसका भी कहना था कि नौकरी के लिए चार साल से इंतजार में बैठा रहा, सारे कागजात और कलेक्टर का लिखित पत्र प्रबंधक को सौंपा जा चुका है। लेकिन हर बार कंपनी प्रबंधक द्वारा आज कल किया जा रहा है। इससे परिवार का भरण पोषण मुश्किल हो रहा है।


वहीं जनसुनवाई में सिविल लाइन बुढी मढिया रोड वार्ड क्रमांक १३ निवासी पूनम पांडेय ने ससुराल पक्ष वालों के खिलाफ कोतवाली अनूपपुर में २० जून २०१७ को दर्ज कराई गई शिकायत पर अबतक कार्रवाई नहीं होने की शिकायत दर्ज कराई। महिला का कहना था कि पूर्व में भी २३ अगस्त २०१७ को परिवार परामर्श केन्द्र अनूपपुर में दहेज प्रताडऩा की शिकायत दर्ज कराई गई थी, लेकिन आजतक दोनों मामलों में अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। यहां तक प्रकरण में ११ दिसम्बर को पुलिस अधीक्षक अनूपपुर से भी शिकायत की गई। और २३ दिसम्बर को कोतवाली में पुन: शिकायत की गई। लेकिन कोई पुलिस अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहा है। जिसपर अपर कलेक्टर ने कार्रवाई का आश्वस्त किया।


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image