गुटखा  कंपनी पर  जीएसटी और ईओडब्ल्यू का छापा 5 करोड़ की मिलावटी गुटखा सामग्री बरामद 


राजश्री, कमला पसंद और ब्लैक लेबल गुटखा के कारखाने पर EOW  का छापा ,छापे में कंपनियों में लगभग 5 करोड़ रुपए कीमत का मिलावटी गुटखा पाया गया
भोपाल.आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ  ने भोपाल और इंदौर की चार गुटखा कंपनियों पर कार्रवाई की है। इनमें अनुमति से ज्यादा उत्पादन, टैक्स चोरी, मिलावट, बच्चों से काम कराना आदि पाए जाने पर केंद्र और राज्य सरकारों के सात विभागों को प्रकरण सौंपे गए हैं। भोपाल की तीन तथा इंदौर की एक गुटखा कंपनियों पर एक साथ यह कार्रवाई हुई।राजधानी के गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में शुक्रवार को तीन गुटखा कंपनियों पर छापेमारी की गई। सुबह स्टेट जीएसटी, खाद्य विभाग, बिजली विभाग और आर्थिक अपराध शाखा  की टीम राजश्री, कमला पसंद और ब्लैक लेबल गुटखा के कारखाने पर पहुंचीं। तीनों ही कारखानों पर टीम ने एक साथ छापेमारी शुरू की। ईओडब्ल्यू एसपी अरुण कुमार मिश्रा ने बताया कि छापे में कंपनियों में लगभग 5 करोड़ रुपए कीमत का मिलावटी गुटखा पाया गया, जिसे देश के अलग-अलग स्थानों पर भेजने की तैयारी थी।एसपी ने यह भी बताया कि तीनों कंपनी में लगी मशीन में छेड़छाड कर तय सीमा से अधिक उत्पादन कर कंपनियों द्वारा टैक्स चोरी भी की जा रही थी। वहीं बिजली की चोरी करने का मामला भी सामने आया है। बिजली चोरी कर गुटखा कारखानों में दिन रात उत्पादन किए जाने की बात सामने आई है। बिजली चोरी कितनी हुई है। इसका पता लगाया जा रहा है।उन्होंने यह भी बताया कि तीनों कंपनियों में 500 से ज्यादा बाल मजदूर भी काम करते हुए पाए गए। इन मजदूरों का सत्यापन अशोका गार्डन पुलिस से कराया जा रहा है। इसके अलावा तैयार माल और कच्चे माल में मिलावट की आशंका के चलते खाद्य विभाग ने सैंपल एकत्रित किए हैं।


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image