कोरोना से मिली कमलनाथ सरकार को सांस ,पूर्व सीएम पहुंचे सुप्रीम कोर्ट...

पूर्व सीएम शिवराज सिंह  पहुंचे सुप्रीम कोर्ट...



भोपाल। तमाम राजनैतिक घटनाक्रम के बाद  प्रदेश की कमलनाथ सरकार आज फ्लोर टेस्ट कराने से पीछे हट गई। आज सभी की नजर विधानसभा कार्यवाई पर टिकी हुई थी। जैसे की संभावना जताई जा रही थी सीएम कमलनाथ फिलाल अपनी सरकार को बचाने के लिए सदन में फ्लोर टेस्ट कराने से बचेगी। विधानसभा में आज राज्यपाल के संक्षिप्त अभिभाषण के बाद स्पीकर प्रजापति ने विधानसभा की कार्यवाई आगामी 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई। सदन की कार्यवाई स्थगित करने का कारण कोरोना वायरस को बनाया गया है। जबकि भाजपा सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार पर अपनी सरकार बचाने के लिए गलत मापदंड अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा यदि सरकार के पास बहुमत है तो फिर फ्लोर टेस्ट कराने से पीछे क्यो हट रहे है कमलनाथ। विधानसभा अध्यक्ष के इस फैसले के खिलाफ पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। विधानसभा से निकलने के बाद शिवराज सिंह चौहान अपने विधायकों के साथ राज्यपाल लालजी टंडन से मिलने पहुंचे और सरकार के फैसले पर विरोध दर्ज कराया। इधर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा भाजपा को जहां जाना है जाए।


Popular posts
महात्मा गांधी, एवं स्व. श्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर एक दिवसीय वालीबाल प्रतियोगिता का आयोजन, बरगवां यूथ ब्रिगेड रही विजेता
Image
मध्य प्रदेश में सियासी हलचल तेज, मंत्री बिसाहूलाल सिंह को भोपाल लेजाने अचानक पंहुचा हेलीकॉप्टर
Image
राज्यपाल के कार्यक्रम में जनजाति समाज के लोगों के जीवन को खतरे में डालने कि इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्‍वविदयालय की साजिश .
Image
जातिगत आरक्षण को समाप्त कर आर्थिक आरक्षण व्यवस्था लागू करने की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन
Image
अमरकंटक, चित्रकूट, गरीब रथ, शक्तिपुंज, सोमनाथ एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने की मंजूरी
Image