जेईई एवं नीट के 19 परीक्षार्थी शासकीय सुविधा के माध्यम से पहुँचे परीक्षा केंद्र, आगामी दिवसों हेतु 78 परीक्षार्थियों ने कराया है पंजीयन


उल्लेखनीय है कि विश्वसत्ता ने प्रमुखता से इस मुद्दे को प्रकाशित किया था जिसे मप्र शासन ने संज्ञान में लिया 


 


अनूपपुर/ जिला शिक्षा अधिकारी सच्चिदानंद पांडे ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार ज़िले के विद्यार्थी जिनके द्वारा जेईई एवं नीट की परीक्षाओं हेतु परीक्षा केंद्र तक जाने के लिए शासकीय परिवहन सुविधा हेतु पंजीयन कराया गया है, उनके हेतु व्यवस्थाएँ की जाकर सेवाएँ उपलब्ध कराई जा रही हैं। श्री पांडे ने बताया कि अब तक 19 परीक्षार्थी जिनके द्वारा पंजीयन कराया गया था, उन्हें सम्बंधित परीक्षा केंद्र स्थलों तक भेजने की सुविधा उपलब्ध कराई गयी हैं। जिनमे से 8 परीक्षार्थी बिलासपुर, 2 परीक्षार्थी सतना, 1 परीक्षार्थी बालाघाट, 1 परीक्षार्थी रीवा एवं 7 परीक्षार्थी जबलपुर एवं भोपाल हेतु भेजे गए हैं। आगामी दिवसों हेतु 78 परीक्षार्थी पंजीयन करा चुके हैं, जिन्हें आवश्यक परिवहन सेवाएँ उपलब्ध कराई जाएँगी।   उल्लेखनीय है कि  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के ऐसे विद्यार्थी जो इस साल जेईईमेन और नीट 2020 में सम्मिलित हो रहे हैं, के लिए महत्वपूर्ण कल्याणकारी निर्णय लिया है । इन विद्यार्थियों को कोरोना के कारण समस्या ना हो, इस उद्देश्य से आने जाने का निःशुल्क परिवहन साधन उपलब्ध करवाया जाएगा । इसके लिए परीक्षार्थी को 181 या मध्य प्रदेश ई पास पोर्टल https://mapit.gov.in/covid-19 पर संपर्क कर रजिस्टर करना होगा। इस प्रक्रिया में विद्यार्थियों को नाम, पता, मोबाइल नंबर, परीक्षा की दिनांक और स्थान (कहां से कहां) उल्लेख करना होगा। संबंधित जिला प्रशासन परीक्षार्थी को यह सुविधा उपलब्ध करवाएगा। परीक्षार्थी यदि चाहे तो उसके एक सहयोगी को भी परीक्षा केंद्र तक आने जाने के लिए दो तरफ की निःशुल्क परिवहन सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।  विद्यार्थियों को यह सुविधा प्राप्त करने के लिए विकासखंड और जिला मुख्यालय में उपस्थित होना होगा। यहां से परीक्षा केंद्र तक आने-जाने के लिए सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। जिन परीक्षार्थियों की परीक्षा तिथि 02 सितम्बर 2020 एवं उसके आगामी तिथियों हेतु नियत है, ऐसे परीक्षार्थी उनकी परीक्षा तिथि के एक दिवस पूर्व प्रातः 11:00 बजे तक परिवहन के संबंध में आवश्यक पंजीयन करा सकते हैं।


Popular posts
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image