विद्युत विभाग के जूनियर इंजीनियर को लोकायुक्त ने पांच हजार की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

 बिजली चोरी का दाग धुलवाने के चक्कर में एक जेई खुद दागदार बन गया। मामला मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी का 


जबलपुर। जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने सोमवार को एमपीईबी के पूर्व संभाग क्रमांक-2, जोन-2 कार्यालय मे पदस्थ जूनियर इंजीनियर को पांच हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. जूनियर इंजीनियर कमलेश कसेरा बिजली चोरी के एक मामले को रफा-दफा करने के लिए रिश्वत की मांग कर रहा था. जिसकी शिकायत उपभोक्ता ने लोकायुक्त पुलिस से की थी.बताया जा रहा है कि प्रेम सागर में रहने वाला प्रकाश चंद्र वंशकार बिजली चोरी प्रकरण में फंसा हुआ था और उसी मामले को रफा-दफा करने के लिए मध्य प्रदेश विद्युत मंडल के जूनियर इंजीनियर, जो कि प्रेम सागर फीडर के प्रभारी भी है. कमलेश कसेरा उनसे दस हजार रुपये बतौर रिश्वत मांग कर रहे थे.रिश्वत की पहली किश्त में पांच हजार रुपये वह ले चुका था। सोमवार को रिश्वत की दूसरी किश्त के पांच हजार रुपये लेते हुए वह पकड़ा गया।  लोकायुक्त पुलिस ने उनके ऑफिस को भी सील कर दिया है. अब लोकायुक्त पुलिस की टीम आरोपी जूनियर इंजीनियर के बैंक अकाउंट और संपत्ति की भी जानकारी इकट्ठा करने में जुट गई है.