कपल का कमाल, पति ने पहला तो पत्नी ने हासिल किया दूसरा स्थान / PCS परीक्षा 


छत्तीसगढ़ /रायपुर, कहते हैं मेहनत कभी जाया नहीं जाती। इसकी जीती जागती मिसाल छत्तीसगढ़ में देखने को मिली। यहां पति और पत्नी ने नया कीर्तिमान बनाया है। शायद ही इससे पहले आपने इस तरह का मामला सुना हो। छत्तीसगढ़ लोकसेवा आयोग की परीक्षा में पति अनुभव सिंह टॉपर और पत्नी विभा सिंह सेकेंड टॉपर रही। इन पति-पत्नियों की कामयाबी की कहानी जितनी रोचक है उतनी ही संघर्ष से भरी हुई है।सीजीपीएससी एग्जाम के परिणाम में छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के रहने वाली टैलेंटेड कपल अनुभव सिंह और पत्नी विभा सिंह ने कामयाबी हासिल कर सबको हैरानी में डाल दिया। दरअसल, , अनुभव सिंह 2008 से तो विभा भी पीसीएस परीक्षा में असफल होती रही थीं। रायपुर निवासी अनुभव सिंह वर्ष 2008 में बिलासपुर में रहकर पीसीएस परीक्षा की तैयारी में लगे हुए थे।
बिल्हा पंचायत में एडीओ उनकी पत्नी विभा सिंह भी पीसीएस परीक्षा की तैयारी कर रहीं थीं। 10 जुलाई को जब सीजीपीएससी की परीक्षा का रिजल्ट आया तो अनुभव सिंह फर्स्ट और विभा सिंह सेकंड टॉपर रहीं। अनुभव सिंह ने 300 में से 278 और विभा सिंह को 268 अंक हासिल किए हैं।अनुभव लगातार इस परीक्षा में बैठ रहे थे। किसी ना किसी वजह से वह सफल नहीं हो रहे थे।हालांकि, इस दौरान कई बार उनका सलेक्शन सरकारी नौकरियों के लिए होता रहा है। लेकिन, उनपर पीसीएस पास करने का जनून था इसलिए उन्होंने कही भी सरकारी नौकरी में ज्वॉइन नहीं किया। उनक् परिवार ने उन दोनों के पूरा सहयोग किया। कई बार अनुभव को बेरोजगाज होने के ताने भी सुनने पड़ते थे। बता दें कि अनुभव वे कई बार पीसीएस में प्री क्लियर कर लिया था। लेकिन, मेन्स एग्जाम देने के बाद वह इंटरव्यू पास नहीं कर पाए थे।  कुछ ऐसा ही विभा सिंह के साथ भी हुआ। वह पीसीएस एग्जाम में बैंठी लेकिन, असफल होती रही। लेकिन, इस बार के परिणाम ने सबको हैरान में डाल दिया। 


Popular posts
अनूपपुर जिला डाक विभाग की जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया गया
Image
22 जनवरी को जनजातीय विश्वविद्यालय में भी अवकाश घोषित करने मुख्यमंत्री मोहन यादव, जिलाधीश और विश्वविद्यालय प्रशासन को सौपा गया ज्ञापन
Image
सरोवर भ्रष्टाचार के साथ आर्थिक आय का उद्गम स्थल :बृजेन्द्र पंत।
Image
संपूर्ण राजनगर हुआ राम मय,कलश यात्रा हेतु पीला चावल देकर किया आमंत्रित
Image
सांसद ने नहीं किया कोई प्रयास सूचना अधिकार में हुआ खुलासा अनूपपुर तक विस्तारीकरण का नहीं कोई प्रस्ताव
Image