मप्र / ई-टेंडर घोटाले में चालान के बाद अब वेलजी कंपनी के एमडी हरेश का गिरफ्तारी वारंट जारी

330 करोड़ का टेंडर लेने के लिए दिया था 3.33 करोड़ का कमीशन



भोपाल। ई- टेंडर घोटाले के मामले में वेलजी रत्न एंड कंपनी के एमडी हरेश सोरठिया के खिलाफ अदालत ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। सोमवार को विशेष न्यायाधीश संजीव पांडे की अदालत ने यह आदेश दिया। सोरठिया के खिलाफ शनिवार को ईओडब्ल्यू ने चालान पेश किया था। 



सोरठिया ने 330 करोड़ का टेंडर हासिल करने के लिए बिचौलिए मनीष खरे को 3 करोड़ 33 लाख का कमीशन दिया था। चार्जशीट में जांच एजेंसी ने बताया है कि साेरठिया ने खरे के अकाउंट में अलग-अलग दिनाें में यह राशि भेजी है। 



सोमवार को अदालत ने 301, लेकव्यू कॉम्प्लेक्स शाहपुरा और दूसरे पते 12 प्रभु पार्क , गौत्री रोड, बड़ोदरा गुजरात के पते पर गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। इस मामले में गिरफ्तार अाॅस्माे सोल्युशन प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर विनय चौधरी, वरुण चतुर्वेदी, श्रीकॉन मल्टी इंफ्रा लिमिटेड के डायरेक्टर सुमीत गोलवलकर, एमपीएसईडीसी के ओएसडी नंदकिशोर ब्रम्हे, एंट्रेस सिस्टम्स के असिस्टेंट प्रेसीडेंट मनोहर एमएन, माईल स्टोन बिल्डर्स एंड डेवलपर्स के डायरेक्टर मनीष खरे जेल में है। आराेपियों की जमानत अर्जी हाईकोर्ट से नामंजूर हो चुकी है।


Popular posts
कोरोना वायरस के चलते घरों में सादगी से पूजा पाठ एवं हवन यज्ञ कर मनाये परशुराम जयंती-चैतन्य मिश्रा
Image
कोरोना वैक्सीन सभी लगवाएं स्वास्थ्य में कोई प्रभाव नहीं पड़ता- हिमांशु बियानी
Image
ग्रामीण अंचलों में हालात गंभीर है प्रशासन चेते नहीं तो स्थिति भयावह होगी-फुन्देलाल सिंह मार्को
Image
एसईसीआर मजदूर कांग्रेस बिलासपुर मंडल ने रेलवे बिलासपुर मंडल के 18 वर्ष से ऊपर रेल कर्मचारियों को रेल क्षेत्र में टीकाकरण कराने म.प्र.सी.एम. को लिखा पत्र
Image
अनूपपुर जिले में 19 अप्रेल तक लॉक डाउन बढ़ाया गया
Image