सीएमओ एक लाख रुपये से अधिक रिश्वत लेते हुए धराया


शिवपुरी जिले के पिछोर नगर परिषद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को गुरुवार को लोकायुक्त पुलिस ने 1 लाख 17 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया. सीएमओ ने यह रिश्वत नगर परिषद के अध्यक्ष के पुत्र से मांगी थी जिसकी शिकायत उसने एक दिन पूर्व ही पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त को की थी. उस शिकायत पर गुरुवार को यह कार्रवाई शिवपुरी शहर के थ्री स्टार होटल टूरिस्ट विलेज में अमल में लाई गई.
कार्रवाई के सम्बन्ध में निरीक्षक पी.के. चतुर्वेदी ने बताया कि पिछोर नगर परिषद में अनुकम्पा नियुक्ति से सीएमओ बने सुधीर मिश्र पिछले लम्बे समय से पिछोर नगर परिषद अध्यक्ष संजय पाराशर के बेटे मयंक पाराशर से नगर परिषद अंतर्गत स्वीकृत हुए निर्माण कार्यों के कार्यादेश देने के एवज में रिश्वत मांग रहा था. मयंक पाराशर ने 10 जुलाई को ग्वालियर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में इस पूरे मामले की शिकायत की. शिकायत दर्ज करने के बाद लोकायुक्त पुलिस ने मयंक पाराशर को टेप रिकॉर्डर और रिश्वत के रूप में मांगी जाने वाली राशि अपने पास से देते हुए शिवपुरी भेजा. गुरुवार को सुधीर मिश्र और मयंक पाराशर के बीच होटल टूरिस्ट विलेज में रिश्वत की डीलिंग की बात हुई.
मयंक पाराशर के साथ ही लोकायुक्त पुलिस भी टूरिस्ट विलेज के डाइनिंग हॉल में जा बैठी. मयंक पाराशर ने जैसे ही रिश्वत दी उसके बाद उसने लोकायुक्त पुलिस को मिस कॉल दे दिया. मिस्ड कॉल आते ही लोकायुक्त पुलिस ने तत्काल सीएमओ सुधीर मिश्रा को 1 लाख 17 हजार की रिश्वत लेते हुए शाम 6 बजे रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. पुलिस ने रिश्वत के रूप में लिए गए नोट का रंग और सीएमओ सुधीर मिश्रा के हाथ धुलवाकर केमिकल युक्त पानी मिलान के लिए अपने पास रख लिया. रिश्वत लेते हुए पकड़े गए सीएमओ सुधीर मिश्रा के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है.
फरियादी ने बताया वर्क ऑर्डर जारी करने को कहो तो सीएमओ कहते थे- काम तो सिस्टम से ही होगा
कड़ने पर फरियादी से बोला तुमने अच्छा नहीं किया रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों पकड़े जाने पर सीएमओ सुधीर मिश्रा ने फरियादी मयंक पाराशर से कहा यह तुमने अच्छा नहीं किया। मुझे फंसा दिया।