बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में बाघिन की मौत


उमरिया। बांधवगढ़ की सबसे उम्रदराज बाघिन का खिताब हासिल करने वाली बाघिन टी-23 ने बुधवार की शाम अंतिम सांसे ली। प्रबंधन के मुताबिक रूटीन चैकअप के बाद वन्य जीव चिकित्सक डॉ. नितिन गुप्ता एवं स्टाफ अपने अन्य कार्यों में व्यस्त थे, उसी दौरान बाघिन मौत हुई है। देर रात बाघिन की अवस्था में कोई परिवर्तन न होता देख कर्मचारियों ने बाघिन के मौत की खबर प्रबंधन को दी।बंधन के रिकार्ड के मुताबिक बाघिन T23 का जन्म वर्ष 2002 में हुआ था और बांधवंगढ़ में पर्यटकों के बीच यह काफी प्रसिद्ध बाघिन थी। तीन बार के प्रजनन में इसने पार्क को 9 बाघ दिए हैं जो आज बांधवंगढ़ में अपनी शोभा बढ़ा रहे हैं। बाघिन को मार्च महीने में टाइगर रिजर्व प्रबंधन ने धमोखर रेंज के दुब्बार बीट से रेस्क्यू कर घायल अवस्था में बठान इनक्लोजर में रखा था। 


Popular posts
मध्यप्रदेश विधि और विधायी कार्य विभाग ने शहडोल के 4 बुढ़ार के 2, जैतपुर के 2 और जयसिंहनगर के 02 अधिवक्ताओ को नोटरी कार्य के लिए किया नियुक्त
Image
अन्नदाता एवं किसानों की समस्याओं से वाकिफ हूं-फुंदेलाल
Image
रेलवे मजदूर कांग्रेस मंडल कार्मिक अधिकारी से कर्मचारियों की समस्याओं पर की चर्चा और किया स्वागत
Image
कोरोना वालेंटियर दीवार लेखन के माध्यम से दूसरे डोज के लिए ग्रामीणों को जागरूक कर रहे!
Image
पत्रकारों के परिजनों की सहायता के लिये हमेशा तत्पर -- सोनिया मीणा
Image