बिजली 5 फीसदी महंगी, सिर्फ मध्यम वर्ग पर बढ़ेगा बोझ


भोपाल। विधानसभा चुनाव 2018 और लोकसभा चुनाव 2019 होने के बाद घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली की कीमतों में लगभग पांच फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। बिजली कंपनियों ने मध्य प्रदेश राज्य नियामक आयोग से 12 फीसदी की वृद्धि करने की मांग की थी लेकिन आयोग ने अधिकतम सात फीसदी दरें बढ़ाने को मंजूरी दी है। खास बात ये है कि नए टैरिफ में 51 से 150 यूनिट का नया स्लैब बनाया गया है, जो इंदिरा गृह ज्योति योजना के तहत सभी वर्ग को सौ रुपए में सौ यूनिट बिजली का लाभ देने के लिए तैयार किया गया है। गैर घरेलू उपभोक्ताओं पर 4.9 प्रतिशत की वृद्धि की गई है।बिजली के नए टैरिफ में किसानों को सबसे बड़ी राहत दी गई है। अब दस हार्स पॉवर तक के फ्लैट रेट पर किसानों को मात्र 700 रुपए प्रति हार्स पॉवर की दर से बिल देना होगा।यानी साल में उसे सात हजार रुपए देना होंगे। पहले यही दर 14 सौ रुपए प्रति हार्स पॉवर थी। इससे प्रदेश के 27 लाख किसानों को फायदा होगा। 10 हार्स पॉवर के ऊपर सब्सीडी के उपरांत 14 सौ रुपए प्रति एचपी की दर लागू होगी। 250 यूनिट खपत है तो पहले 50 यूनिट पर 4 रुपए पांच पैसे, अगले 100 यूनिट पर 4 रुपए 95 पैसे और अगले 100 यूनिट पर 6 रुपए 30 पैसे के हिसाब से बिजली बिल देना होगा। बाकी प्रभार और टैक्स सहित मासिक फिक्स्ड चार्ज अलग से लगेगा।


Popular posts
मध्यप्रदेश विधि और विधायी कार्य विभाग ने शहडोल के 4 बुढ़ार के 2, जैतपुर के 2 और जयसिंहनगर के 02 अधिवक्ताओ को नोटरी कार्य के लिए किया नियुक्त
Image
अन्नदाता एवं किसानों की समस्याओं से वाकिफ हूं-फुंदेलाल
Image
रेलवे मजदूर कांग्रेस मंडल कार्मिक अधिकारी से कर्मचारियों की समस्याओं पर की चर्चा और किया स्वागत
Image
कोरोना वालेंटियर दीवार लेखन के माध्यम से दूसरे डोज के लिए ग्रामीणों को जागरूक कर रहे!
Image
पत्रकारों के परिजनों की सहायता के लिये हमेशा तत्पर -- सोनिया मीणा
Image