जनस्मिता यात्रा 15 को अनूपपुर में

अपने मान सम्मान व अस्मिता की रक्षा के लिए लड़ाई जारी है-लक्ष्मण तिवारी



अनूपपुर।पूर्व सैनिको की मागो  ,राजस्व प्रकरण, किसानो और बेरोजगारो के साथ लगातार सरकार द्वारा धोखा की बजह से कराह और आत्महत्या के लिए विवश हो रहा है।दूसरी तरफ जनसमस्याओं की अनदेखी हो रही है।गौ माता की रक्षा के नाम पर देश के बड़े बड़े ढोंगी हिन्दू संगठन अपनी राजनैतिक रोटी सेंक रहे है । भारत भूमि में लोगो को बैतरणी पार लगाने बाली गौ माता अब तरह तरह की यातनाएं भुगत रही हैं। उस पर हो रहे जुल्म से धरती माँ विलाप कर रही प्रकृति ताण्डव कर रही है।लेकिन दुर्भाग्य गौ शाला खोले जाने को लेकर देश की केंद्र से लेकर राज्य की अंधी सरकारें मात्र बातें कर रही है ।जगह जगह आवारा पशुओं का भारी झुंड देखा जाता है जो किसानों की फसलों को नष्ट कर रही हैं। वहीं सड़को पर डेरा होने की बजह से आये दिन सड़क पर भीषण दुर्घटनाओं को बढ़ावा दे रही है तो खुद सड़क हादसों में काल के गाल में समाने को मजबूर हैं। प्रदेश में बिजली संकट बना हुआ है। सड़को के नाम पर गड्ढे दिख रहे है। इस गम्भीर परिस्थितियों के बीच जनता को जीने के लिए बाध्य किया जा रहा है,वर्तमान में सविदकारों की जो स्थित आज है जिसमे सही दर में काम न मिलना और उसका  भुगतान नहीं होने उनकी आर्थिक स्थित दिनोंदिन बिगड़ रही है। ऐसे में विकास की गति धीमी पड़ी है ,यह कहना है लक्ष्मण तिवारी जी का जो इन सब मुद्दों  को लेकर पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी की अगुवाई में जन अस्मिता यात्रा निकली जा रही है जिसका आज छटवा दिन है  आज जिला सीधी कई जनसभाओ को सम्बोधित करते हुए १४ शहडोल जिले के ब्योहारी जैसिंघनगर  गोहपारू शहडोल से होते हुए बुढ़ार में रात्रि बिश्राम के बाद ,१५ सितम्बर रबिबार को आठवें दिन सुबह   यात्रा अनूपपुर पहुंचेगी जहॉ चचाई और अनूपपुर में तय मुद्दों को लेकर पूर्व विधायक और रामशंकर जी महराज जन सभाओ को सम्बोधित करेंगे इससे पहले  8 सितम्बर को जन अस्मिता  यात्रा की शुरुआत की गई थी । 10 दिवसीय यात्रा में 1290 किलोमीटर में 24 विंध्य की 24 विधानसभाओं में जाएगी। जहां 68 जनसभा आयोजित की जाएगी ।  यह यात्रा 8 जिलो से प्रारंभ होकर 17 सितम्बर को गुढ़ में यात्रा का समापन होगा।  इस यात्रा को लेकर विंध्य के युवाओ का काफी उत्साह एवं समर्थन प्राप्त हो रहा है 


Popular posts
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image