कर्मचारी ने रिश्वत मांगी तो किसान भैंस लेकर पहुंचा तहसील

आरोप, 7 महीने से बटवारा प्रकरण में कार्यवाही नहीं हो रही थी, कर्मचारी के रिश्वत मांगने से परेशान किसान का अनोखा विरोध प्रदर्शन, भैंस लेकर पहुंचा तहसील



विदिशा. विदिशा जिले में अजीबो गरीब घटना सुनने को मिली ,सिरोंज तहसील में बुधवार को एक किसान ने रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए विरोध अनोखा तरीका अपनाया। पीड़ित किसान भूपत रघुवंशी के मुताबिक, उसने 7 माह में तहसील में कई बार गुहार लगाई लेकिन उसकी आज तक सुनवाई नही हुई है। किसान भूपत का पिता-पुत्र का बंटवारा का प्रकरण है, जिस पर 7 महीने से रिश्वत के कारण कार्रवाई नहीं की जा रही है।इससे गुस्साए किसान भूपत बुधवार को अपनी भैंस को लेकर तहसील कार्यालय पहुंच गया और रिश्वत के बदले भैंस देने की बात कही। इस पर तहसील कार्यालय में हंगामा मच गया। इधर, नायब तहसीलदार ने रिश्वत के आरोप को बदनाम करने की साजिश बताते हुए प्रकरण में बिलंब होने पर पटवारी को दोषी करार दिया है।सिरोंज के एसडीएम संजय जैन ने नायब तहसीदार के विरुद्ध शिकायती आवेदन पर कहा कि किसान से प्राप्त आवेदन में रिश्वत से संबंधी कोई सबूत नही दिए गए हैं। रिश्वत का मौखिक आरोप लगाया गया है। साथ ही पिता-पुत्र के पारिवारिक बंटवारे में 7 माह का बिलंब हुआ है, जो राजस्व नियमों का उल्लंघन है, ये बड़ी गलती है और इसकी जांच के आदेश दिए गए हैं।