दिसंबर तक हो सकती है प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और निगम-मंडलों की घोषणा


भोपाल। देश के आर्थिक हालातों और केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ कांग्रेस ने अब तक के सबसे बड़े आंदोलन की रणनीति पर काम तेज कर दिया है। कांग्रेस की राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सोनिया गांधी  के नेतृत्व में होने वाली दिल्ली की रैली के लिए कांग्रेस ने सभी जिलों को तीस से चालीस हजार कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचने का टारगेट दिया है। इसको लेकर गुरुवार को भोपाल में कांंग्रेस जिला अध्यक्षों की बैठक हुई, जिसे पीसीसी चीफ और मुख्‍यमंत्री कमलनाथ के अलावा कांग्रेस प्रभारी दीपक बाबरिया ने भी संबोधित किया । इसके अलावा मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रभारी दीपक बाबरिया ने मीडिया से चर्चा के दौरान  कहा है कि नए प्रदेश अध्यक्ष और निगम-मंडलों में ताजपोशी की घोषणा जल्द ही कर दी जाएगी। दिसंबर तक सभी नियुक्तियों के प्रयास हैं निगम-मंडलों में नियुक्ति के मापदंड तय हो चुके हैं। सिफारिशी नेता को मौका नहीं मिलेगा। , निगम-मंडलों में ऐसे लोगों को मौका मिलेगा जिनकी छबि ठीक हो, पिछले 15, 10 एवं 5 साल की सक्रियता भी देखी जाएगी। एक सवाल पर उन्होंने बताया कि ऐसे उम्रदराज नेताओं को भी मौका मिलेगा जो पिछले डेढ़ दशक लगातार सक्रिय रहे। निकाय चुनाव के पहले हर जिले में पार्टी पुनर्गठन की प्रक्रिया शुरू की जा रही है, सक्रिय नेताओं को पदोन्नात करेंगे।