लोकायुक्त के हाथो १३००० की रिश्वत लेते आरक्षक धराया, रेत के ट्रक को छोड़ने के बदले में मांग रहा था रिश्वत

रिश्वत लेने वाले आरक्षक को जैसे ही लोकायुक्त डीएसपी ने पकड़ा तो वह दहाड़े मारकर रोने लगा,फरियादी मनोज शर्मा ने बताया कि मैंने छह महीने पहले ही यह गाड़ी ली है। इसके सभी पेपर थे। गाड़ी ओवरलोड भी नहीं थी। फिर भी मुझे परेशान किया जा रहा था।



इंदौर/ लाेकायुक्त पुलिसइंदौर ने  ने एक एक आरक्छक काे 13हजार रुपए की रिश्वत  लेते पकड़ा है आईआईटी में रेत पहुंचाने आए एक डंपर को छोड़ने के एवज में 13 हजार की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने मंगलवार को सिमरोल थाने के आरक्षक को रंगेहाथों पकड़ा। मामले में थाने के टीआई और एक नगर सैनिक को भी आरोपित बनाया गया है। रिश्वत लेने वाले आरक्षक को लोकायुक्त डीएसपी ने पकड़ा तो वह दहाड़े मारकर रोने लगा और डीएसपी से कहा कि मैं मर जाऊंगा। टीआई इस दौरान कैबिन में ही मौजूद थे। वे कार्रवाई के दौरान सिर झुकाए बैठे रहे। लोकायुक्त एसपी सव्यसाची सराफ के मुताबिक आवेदक मनोज शर्मा निवासी धार रोड की शिकायत पर टीम ने सिमरोल टीआई राकेशकुमार नैन, आरक्षक विजेंद्र धाकड़ और नगर सैनिक दीपक पटेल पर कार्रवाई की है। टीम के डीएसपी एसएस यादव ने बताया कि मनोज शर्मा आईआईटी इंदौर में रेत सप्लाई करते हैं।सोमवार रात को उनका डंपर (एमपी 09 एचएच 6350) सिमरोल में आईआईटी के गेट के बाहर पहुंचा ही था कि उसे नगर सैनिक ने पकड़ लिया और थाने ले आया। यहां मनोज से 15 हजार रुपए की मांग की गई।जिसकी शिकायत लोकायुक्त कार्यालय में की गई ,सुबह हमने रिकॉर्डिंग उपकरण लेकर भेजा और सौदा 13 हजार रुपए में तय हुआ।मनोज ने बताया कि मैंने छह महीने पहले ही यह गाड़ी ली है। इसके सभी पेपर थे। गाड़ी ओवरलोड भी नहीं थी। फिर भी मुझे परेशान किया जा रहा था। सुबह मैं दीपक पटेल के पास गया तो उसने बताया कि टीआई साहब ने बोला है कि 15 हजार रुपए लेकर गाड़ी छोड़ना है। बाद में सौदा 13 हजार रुपए में तय हुआ। इसके बाद मैं रुपए का इंतजाम करने का कहकर लौट आया। मनोज शाम को रुपए लेकर थाने गया और दीपक को तलाशा तो वह नहीं मिला। इसके बाद वह सीधे टीआई नैन के कैबिन में गया। टीआई से दीपक के नहीं मिलने और रुपए लाने की बात कही तो टीआई ने आरक्षक विजेंद्र से मिलने का कहा। इसके बाद मनोज ने उसे रुपए दिए। विजेंद्र ने रुपये  जेब में रखे, इसी बीच टीम ने उसे धरदबोचा और सीधे टीआई के कैबिन में ले गई।


Popular posts
समर कैंप के माध्यम से बच्चों के खेल की प्रतिभा के निखार लाने का उचित प्लेटफार्म है । पंकज जयसवाल
Image
अनुपपुर वालीबॉल टीम विजई रथ में सवार चैंपियनशिप प्रतियोगिता में अनूपपुर की पुरूष वर्ग की टीम ने दूसरे मैच में भी रतलाम को हराया
Image
गैर राजनीति वा चंदा रहित से ब्राम्हण बंधुओं में आई एकजुटता - पं. रामनारायण द्विवेदी
Image
आखिर हादसे के बाद ही सिस्टम की आँखे क्यों खुलती है ?
Image
जिले के वरिष्ठ पत्रकार के पिताश्री का निधन नेताओं एवं पत्रकारों ने दी शोक श्रद्धांजलि
Image