संबल योजना में घोटाला, एफआईआर दर्ज करने की तैयारी


पूर्ववर्ती शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने राज्य के गरीब परिवारों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के मकसद से संबल योजना को शुरु कराया था। कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान अपने वचन पत्र में वादा किया था कि सत्ता में आने पर इसकी जांच कराई जाएगी।



 मध्य प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्षा शोभा ओझा ने सोमवार को एक बयानजारी कर पिछली सरकार पर आरोप लगते हुए कहा की , "शिवराज सरकार द्वारा प्रारंभ की गई संबल योजना में भ्रष्टाचार हुआ है। इस योजना के लगभग दो करोड़ लाभार्थियों में से 71 लाख अपात्रों के नाम हैं।"मध्य प्रदेश में बीजेपी की शिवराज सरकार के दौर के कई घोटाले सामने आ रहे हैं। घोटाला संबल योजना का है जिसमें 71 लाख से ज्यादा ऐसे लोगों को लाभ पहुंचाया गया जो इसके पात्र नहीं थे।ओझा ने सरकार की कार्रवाई की पुष्टि करते हुए कहा, अपात्र नामों को काटने के साथ ही, घोटालेबाजों पर एफआईआर दर्ज कराने का प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है। ओझा ने आगे कहा, पिछली शिवराज सरकार द्वारा जनहित के नाम पर प्रारंभ की गई संबल योजना का लाभ, वास्तविक पात्रों की अपेक्षा लाखों की संख्या में, उन चहेतों और बीजेपी कार्यकर्ताओं को दे दिया गया, जो न केवल अपात्र थे, बल्कि उनमें से कई तो आयकर दाता भी थे।ओझा ने कहा, प्रदेश के लाखों करदाताओं के पैसे से ऐसे लोगों को लाभान्वित किया गया, जो पहले से ही आर्थिक रूप से सक्षम थे और जिन्हें किसी सहायता की आवश्यकता नहीं थी। लेकिन बीजेपी के चहेते होने के कारण उन्हें गरीबों के हक के पैसों का गबन करने दिया गया।"राज्य में कमलनाथ सरकार द्वारा कई मामलों की जांच का हवाला देते हुए ओझा ने कहा, "पिछली बीजेपी सरकार द्वारा किए गए सभी घोटालों की एक के बाद एक जांच शुरू कर, कमलनाथ सरकार ने यह सिद्घ कर दिया है कि जनता के पैसों की बंदरबांट और संगठित लूट के वह सख्त खिलाफ हैं और संबल योजना के घोटालेबाजों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की बात कहने के साथ ही सरकार का यह कथन भी स्वागत योग्य है कि यदि जरूरत पड़ी तो अपात्रों को जारी की गई उस रकम को भी वसूला जाएगा, जिसके वास्तविक हकदार प्रदेश के मेहनतकश गरीब, मजलूम और मजदूर थे।"इस बीच, शिवराज सिंह चौहान ने राज्य की कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाया है कि वह गरीबों को फायदा नहीं देना चाहती, इसलिए घोटाले का आरोप लगा रही है। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने गरीबों का गला घोंट दिया है।


 


Popular posts
परिवारवाद’’,’’वंशवाद’’,’’भाई-भतीजावाद-चाचा-भतीजावाद’’ ’’अधिनायकवाद’’ एवं ’’जातिवाद’’! *लोकतंत्र के लिए खतरनाक? कैसे! कब! और क्यों? निदान!
Image
18 मई को दद्दाजी की प्रथम पुण्यतिथि में शिष्य मंडल जरूरतमंद स्थानों पर भोजन पैकेट का वितरण करेगा
Image
लॉकडाउन के दौरान अनुपपुर में शराब के लिए महुआ का  परिवहन  जोरो पर, धारा 144 का उलंघन
Image
गुना में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या से सनसनी, काले हिरण के शिकारियों ने रात में मारी गोली
Image
बिहार में एनजीओ के किचन में ब्लास्ट
Image