370 के बाद नागरिकता विधेयक का किया सिंधिया ने समर्थन

इंदौर| ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अनुच्छेद 370 के बाद अब नागरिकता संशोधन विधेयक पर सरकार का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि यह विधेयक संविधान के विपरीत है कि नहीं यह अलग बात है, लेकिन इसमें भारत की वसुधैव कुटुंबकम की विचारधारा और सभ्यता है।


सिंधिया ने इंदौर में कहा कि विभाजन देशों के आधार पर तो पहले भी हुआ था, लेकिन धर्म के आधार पर यह पहली बार है। मैं तो मानता हूं कि यह संविधान के विपरीत है, लेकिन भारतीय संस्कृति के आधार पर है। अब राज्य और धर्म के आधार हो रहा है। 

उन्होंने कहा कि मैं मानता हूं कि जो भारत की विचारधारा और सभ्यता है कि सभी को साथ में लेकर चलना। इस अध्यादेश में भी धर्म और राज्य के आधार की बात है। बाबा साहब अंबेडकर ने संविधान में लिखा है कि किसी को जात-पात, धर्म की दृष्टिकोण से नहीं देखा जाएगा। केवल भारत के नागरिक के रूप में देखा जाएगा।

सिंधिया पहले भी जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म करने के मोदी सरकार के फैसले का समर्थन कर चुके हैं। हालांकि, कांग्रेस शुरू से अब तक सरकार के इस कदम का विरोध कर रही है। भिंड में पार्टी के एक कार्यक्रम में भी सिंधिया ने मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार पर नाराजगी जताई थी। 





 


Popular posts
परिवारवाद’’,’’वंशवाद’’,’’भाई-भतीजावाद-चाचा-भतीजावाद’’ ’’अधिनायकवाद’’ एवं ’’जातिवाद’’! *लोकतंत्र के लिए खतरनाक? कैसे! कब! और क्यों? निदान!
Image
18 मई को दद्दाजी की प्रथम पुण्यतिथि में शिष्य मंडल जरूरतमंद स्थानों पर भोजन पैकेट का वितरण करेगा
Image
लॉकडाउन के दौरान अनुपपुर में शराब के लिए महुआ का  परिवहन  जोरो पर, धारा 144 का उलंघन
Image
गुना में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या से सनसनी, काले हिरण के शिकारियों ने रात में मारी गोली
Image
बिहार में एनजीओ के किचन में ब्लास्ट
Image