आरक्षण पर आंदोलन , 8 को भारत बंद एवं 11 को होगा संसद का घराव


अनूपपुर। केन्द्रीय कैबिनेट द्वारा विगत 70 वर्षो के समान ही इस बार भी बिना कोई समीक्षा किए आरक्षण अवधि बढ़ाने के निर्णय पर सपाक्स पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं अनूपपुर जिले के प्रभारी एच.एल. त्रिपाठी ने इसे सामान्य अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग की जन भावनाओं के विपरीत एवं आहत करने वाला बताया है एवं इन  समस्त मुद्दो को लेकर ८ दिसंबर को भारत बंद और ११ दिसम्बर को संसद का घेराव पर सपाक्स पार्टी ने अपना समर्थन दिया है। उन्होने बताया की सपाक्स पार्टी जातिगत आरक्षण की समाप्ति एवं आर्थिक आधार पर सभी वर्गो के गरीबों के लिए आरक्षण, एक परिवार को आरक्षण का लाभ एक बार दिए जाने पीढ़ी दर पीढ़ी नही, पदोन्नति में आरक्षण समाप्त करनेए, एट्रोसिटी एक्ट जैसे समाज को जाति के आधार पर बांटने वाले कानून के स्थान पर सभी नागरिकों के लिए एक समान कानून बनाने, लोकसभा एवं विधानसभा में आरक्षण अवधि 25 जनवरी 2020 को समाप्त हो रही है, उसे 70 वर्षो के समान यथावत आगे ना बढ़ाकर उसमें समानता एवं न्याय के आधार पर संशोधन करने जिससे पीढ़ी दर पीढी लोग  आरक्षण का लाभ न उठाएं इत्यादि मांगो के लिए संघर्षरत है। उक्त मांगो के समर्थन में लाखों लोगों के हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन एवं पोस्ट कार्ड प्रधानमंत्री को भेजे गया था किन्तु वोट बैंक के सामने जन भावनाएं, संविधान में समानता का अधिकार सभी दरकिनार करते हुए केन्द्रीय कैबिनेट ने प्रस्ताव पारित किया है। इन परिस्थितियों में हम सभी को मजबूरन पुन: संघर्ष एवं जन आंदोलन में उतरना पड़ेगा ताकि संसद के समक्ष हम अपनी मांग रखने में सफल हो सके।