लड़कियों को बड़े आदमी के पास भेजने से पहले उसे पार्लर ले जाकर तैयारकराया जाता था

इंदौर।  हनीट्रैप मामले की आरोपित सरगना श्वेता विजय जैन अधिकारियों और राजनेताओं के सिर्फ अश्लील वीडियो ही रिकॉर्ड नहीं करती थी अपितु वह इन लोगों के साथ हुई मुलाकातों की रिकॉर्डिंग भी सहेजती थी। उसे अधिकारियों से मिलने जाना होता था तो वह खुफिया कैमरा लगा जैकेट पहनकर जाती थी जिससे अधिकारियों और नेताओं से हो रही बातचीत का वीडियो बना सके। लड़की को किसी बड़े आदमी के पास भेजने से पहले उसे पार्लर ले जाकर तैयार भी कराया जाता था। पार्लर संचालिका से कहा जाता था कि लड़के वाले देखने आ रहे हैं, इसलिए अच्छे से तैयार करना। 


     यह बात हनीट्रैप मामले में जिला कोर्ट में पेश चालान में सामने आई है। चालान में पेश धारा 27 के एक मेमो में आरोपित आरती दयाल खुद स्वीकार रही है कि उसने, उसकी साथी श्वेता पति विजय, बरखा सोनी, श्वेता स्वप्निल जैन ने कई गरीब लड़कियों को लालच देकर शासकीय अधिकारियों के वीडियो बनवाए थे। नेताओं और अधिकारियों के वीडियो श्वेता लैपटॉप में सहेजती थी। श्वेता के पास एक जैकेट भी था जिसमें कैमरा लगा होता था। 


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image