प्रदेश में कश्मीर जैसी सर्दी का अहसास, अमरकंटक में -1 डिग्री पहुंचा पारा

अमरकंटक में जमी बर्फ की चादर,शुक्रवार-शनिवार २८ दिसम्बर की रात पवित्र नगरी अमरकंटक का तापमान न्यून स्तर पर जा पहुंचा, जहां नर्मदा तट के मैदानी हिस्सों पर सुबह बर्फ की हल्की चादर बिछी दिखाई दी



अनूपपुर। जम्मू-कश्मीर सहित उत्तर भारत में लगाकर हुई बर्फबारी तथा सर्द होते माहौल में अब अमरकंटक का मैकाल पर्वतीय क्षेत्र भी ठंड की चपेट में पूरी तरह आ गया है। शुक्रवार-शनिवार २८ दिसम्बर की रात पवित्र नगरी अमरकंटक का तापमान न्यून स्तर पर जा पहुंचा, जहां नर्मदा तट के मैदानी हिस्सों पर सुबह बर्फ की हल्की चादर बिछी दिखाई दी। वहीं अनूपपुर मुख्यालय में भी रात को बर्फ जमने की तस्वीर सामने आई। जहां जमीन में सफेद चादर बिछी परत सुबह ८ बजे सूर्य की पडऩे वाली धूप की गर्मी से पिघलती दिखाई। लेकिन इस दौरान अमरकंटक नगरी सहित अनूपपुर का जनजीवन कंपकंपाती ठंड से प्रभावित रहा। संभावना जताई जा रही है कि इस शीत लहर और बर्फीली हवाओं के कारण रबी की फसलों में पाला मार सकता है। फिलहाल अमरकंटक में आगामी एक सप्ताह तक कंपकपाती ठंड का असर बना रह सकता है, जहां सुबह सफेद चादर ओढ़े बर्फ भी जमी रह सकती है। अमरकंटक का अधिकतम तापमान १६ डिग्री सेल्सियस तथा न्यूनतम १ डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। जबकि अनूपपुर का अधिकतम तापमान २३ डिग्री और न्यूनतम ४ डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। जानकारी के अनुसार शुक्रवार की सुबह से ही शीत लहर के कारण मौसम में सर्द हवाओं का दबाव अधिक बढ़ गया था, जिसमें संभावना जताई जा रही थी कि रात का तापमान सबसे न्यून स्तर पर जाएगा। शनिवार की सुबह नगरवासियों ने अमरकंटक के नर्मदा तट किनारें सहित आसपास के मैदानी हिस्सों में घासों पर बर्फ की पतली परत बिछी पाया।


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image