शिक्षक विहीन शासकीय हाई स्कूल जर्राटोला



उन्नयन के बाद भी शासकीय हाई स्कूल जर्राटोला खोढऱी नं. 1 शिक्षक विहीन ,असुविधाओं के बावजूद अध्ययन करने विवश छात्र-छात्राएं
कोतमा। प्रदेश शासन द्वारा शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के अनेको योजनाओं का संचालन किया है, जिसमें छात्र-छात्राओं को नि:शुल्क साईकिल वितरण करने के साथ विद्यालयो को उन्नयन किया जा रहा है, लेकिन शिक्षा देने के न तो भवन और ना ही शिक्षक? जिसके कारण छात्र-छात्राओ को पढ़ाई करने में लगातार परेशानी उठानी पड़ रही है। ऐसा ही एक मामला म.प्र. के अंतिम छोर एवं छत्तीसगढ़ की सीमा से लगा हुआ ग्राम जर्राटोला खोढऱी का है। विकासखंड अनूपपुर का यह विद्यालय शासकीय हाई स्कूल जर्राटोला खोढऱी नं. 1 जहां हाई स्कूल का उन्नयन वर्ष 2010 मे किया गया था, लेकिन आज दिनांक तक यह विद्यालय भवन विहीन है। हाई स्कूल में १४२ छात्र-छात्राएं होने के बावजूद उनकी कक्षाएं माध्यमिक विद्यालय के भवन मे लग रही है। वही विद्यालय में प्राचार्य सहित 7 पद स्वीकृत होने के बाद भी दो शिक्षक ही पदस्थ है। अंग्रेजी विषय के अतिथि शिक्षक की नियुक्ति होने के बावजूद वे कभी विद्यालय मे नही रहते। माध्यमिक विद्यालय मे ही 70 बच्चे व प्राथमिक विद्यालय मे 28 बच्चे अध्ययनरत है। शासकीय स्कूल मे प्रयोगशाला सहायक व अंशकालीन लिपिक का पद रिक्त पडा हुआ है, जिसके कारण छात्र छात्राओ अध्ययन करने में कई दिक्कते आ रही है। विद्यालय मे शौचालय की जर्जर हालत में होने पर अध्ययनरत छात्र-छात्राएं को शौचालय के लिए विद्यालय परिसर से बाहर जाना पडता है। प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय मे एक-एक शिक्षक पदस्थ है। 


Popular posts
परिवारवाद’’,’’वंशवाद’’,’’भाई-भतीजावाद-चाचा-भतीजावाद’’ ’’अधिनायकवाद’’ एवं ’’जातिवाद’’! *लोकतंत्र के लिए खतरनाक? कैसे! कब! और क्यों? निदान!
Image
18 मई को दद्दाजी की प्रथम पुण्यतिथि में शिष्य मंडल जरूरतमंद स्थानों पर भोजन पैकेट का वितरण करेगा
Image
लॉकडाउन के दौरान अनुपपुर में शराब के लिए महुआ का  परिवहन  जोरो पर, धारा 144 का उलंघन
Image
गुना में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या से सनसनी, काले हिरण के शिकारियों ने रात में मारी गोली
Image
बिहार में एनजीओ के किचन में ब्लास्ट
Image