तख्त हुआ तैयार,किया गया ट्रायल, निर्भया के हत्यारों को जल्द होगी फांसी?




फांसी के लिए खास तरह की रस्सियों का इन्तजाम किया जा रहा है, जो बक्सर जेल से मंगाई जा रहीं हैं। इन रस्सियों में मोम लगा होता है और कई घण्टों तक नमी में रखकर इन्हें तैयार किया जाता है।










निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों को फांसी पर लटकाने की तैयारी शुरू हो चुकी है। सूत्रों का कहना है कि 16 दिसंबर को फांसी दी जा सकती है इसलिए तिहाड़ जेल प्रशासन ने तख्त तैयार करके एक डमी का ट्रायल किया है। हालांकि अभी तक फांसी देने को लेकर जेल प्रशासन के पास कोई लेटर नहीं आया है। गौरतलब है कि निर्भया से दुष्कर्म और हत्या के जुर्म में मौत की सजा पाए तिहाड़ में बंद दोषियों की दया याचिका खारिज हो चुकी है।सात साल पहले 16 दिसंबर 2012 को निर्भया के साथ छह दरिंदों ने चलती बस में गैंगरेप किया था।छह में से एक दोषी नाबालिग था जो अब छूट चुका है। वहीं एक आरोपी रामसिंह ने तिहाड़ में ही आत्महत्या कर ली थी। बाकी बचे चार दोषियों को जल्द ही फांसी के फंदे पर लटकाया जा सकता है। खबर है कि तिहाड़ जेल प्रशासन ने फांसी के लिए एक डमी ट्रायल भी किया है। इस डमी ट्रायल के जरिे रस्सी की मजबूती को परखा गया है।वहीं  पवन को मंडोली जेल से तिहाड़ की जेल नम्बर 2 में शिफ्ट किया गया है। इसी जेल नम्बर 2 में दोषी अक्षय और मुकेश भी बंद हैं, जबकि तिहाड़ की जेल नम्बर 4 में विनय शर्मा बन्द है। सभी को अलग-अलग सेल में रखा गया है और सीसीटीवी कैमरों से मॉनिटरिंग की जा रही है। जेल नम्बर 3 में फांसी की तैयारियां हो रही है, फांसी वाली जगह की साफ सफाई और डमी ट्रायल भी कराया गया। जेल नम्बर 3 में ही फांसी लगाने का चबूतरा और तख्ता है।





 







Popular posts
परिवारवाद’’,’’वंशवाद’’,’’भाई-भतीजावाद-चाचा-भतीजावाद’’ ’’अधिनायकवाद’’ एवं ’’जातिवाद’’! *लोकतंत्र के लिए खतरनाक? कैसे! कब! और क्यों? निदान!
Image
18 मई को दद्दाजी की प्रथम पुण्यतिथि में शिष्य मंडल जरूरतमंद स्थानों पर भोजन पैकेट का वितरण करेगा
Image
लॉकडाउन के दौरान अनुपपुर में शराब के लिए महुआ का  परिवहन  जोरो पर, धारा 144 का उलंघन
Image
गुना में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या से सनसनी, काले हिरण के शिकारियों ने रात में मारी गोली
Image
बिहार में एनजीओ के किचन में ब्लास्ट
Image