खदान के धंसकने से ३० वर्षीय युवक की मौंत

गोफ में घुसकर कोयला निकालने के दौरान अचानक गोफ का उपरी हिस्सा लगातार हो रही बारिश के कारन भरभराकर धंसक गया और उसके नीचे दबकर मनहरन की मौत हो गई 



अनूपपुर। रामनगर थाना के हसदेव क्षेत्र राजनगर अंतर्गत छोटी भलमुड़ी गांव में कोल इंडिया की प्रस्तावित खदान में स्थानीय ग्रामीण द्वारा गोफ के माध्यम से कोयला निकासी करने के दौरान चट्टान के धंसकने से ३० वर्षीय युवक मनहरन अगरिया पिता मैकू अगरिया निवासी छोटी भलमुड़ी की दबकर मौत हो गई। घटना सुबह ५.३० बजे के आसपास की बताई जा रही है। घटना की सूचना परिजनों ने पुलिस को सुबह १०.३० बजे दी, जहां पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोपहर १२.४५ बजे जेसीबी के माध्यम से शव को गोफ से बाहर निकाला। जिसके बाद पुलिस ने शव का पंचनामा तैयार कर पोस्टमार्टम उपरांत परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने बताया कि सुबह ५.३० बजे मनहरण अन्य दिनों की भांति साइकिल, सब्बल, बोरी लेकर गोफ की ओर रवाना हुआ था, लेकिन सुबह १० बजे तक उसके घर वापसी नहीं होने पर परिजन उसे खोजने गोफ की ओर गए थे, जहां पास के नाला के पास नई मिट्टी के धंसके हिस्से को पाया, साथ ही कुछ दूरी पर मनहरन की साइकिल खड़ी पाई गई। जिसके बाद परिजनों को यह आश्वस्त हो गया कि उसका पुत्र यहीं मिट्टी के नीचे दबा होगा। जेसीबी से लगभग ४५ मिनट तक की गई खुदाई में मनहरन का शव गोफ से बाहर निकाला गया। जहां शव पाया गया, उसके नीचे भी एक अन्य गोफ बने हुए थे। सम्भावना है कि रात से लगातार हो रही बारिश के कारण चट्टान की मिट्टी गीली हो गई थी,गोफ में घुसकर कोयला निकालने के दौरान अचानक गोफ का उपरी हिस्सा भरभराकर धंसक गया और उसके नीचे दबकर मनहरन की मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि घटना स्थल से आसपास अन्य ५-६ गोफ पाए गए हैं। सम्भावना है कि स्थानीय ग्रामीणों द्वारा इसमें घुसकर कोयला निकालने का कार्य किया जा रहा है, जो खतरनाक है। जानकारी के अनुसार वर्तमान में यह भूमि वनविभाग की है, जिसे कोयला खदान के लिए प्रस्तावित किया है। लेकिन फिलहाल यहां खदान संचालन की प्रक्रिया आरम्भ नहीं हो सकी है। 


Popular posts
महात्मा गांधी, एवं स्व. श्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर एक दिवसीय वालीबाल प्रतियोगिता का आयोजन, बरगवां यूथ ब्रिगेड रही विजेता
Image
मध्य प्रदेश में सियासी हलचल तेज, मंत्री बिसाहूलाल सिंह को भोपाल लेजाने अचानक पंहुचा हेलीकॉप्टर
Image
जातिगत आरक्षण को समाप्त कर आर्थिक आरक्षण व्यवस्था लागू करने की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन
Image
राज्यपाल के कार्यक्रम में जनजाति समाज के लोगों के जीवन को खतरे में डालने कि इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्‍वविदयालय की साजिश .
Image
अमरकंटक, चित्रकूट, गरीब रथ, शक्तिपुंज, सोमनाथ एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने की मंजूरी
Image