प्रभारी प्राचार्य ने चपरासी से मांगी रिश्वत ,10 हजार की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने किया गिरफ्तार

प्रभारी प्राचार्य ने स्कूल के ही चपरासी को 5 महीने का वेतन जारी कराने के एवज में 10 हजार की रिश्वत की मांग की थी



शहडोल/लोकायुक्त की टीम ने गुरुवार को दबिश देकर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य को 10 हजार की रिश्वत के साथ एक रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। प्रभारी प्राचार्य ने स्कूल के ही चपरासी को 5 महीने का वेतन जारी कराने के एवज में 10 हजार की रिश्वत की मांग की थी। मामला शहडोल जिले के चितरांव गांव का है, जहां के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में राजकुमार साकेत प्रभारी प्राचार्य हैं। स्कूल के चपरासी गायत्री वैश्य ने लोकायुक्त शहडोल से शिकायत की थी कि विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य राजकुमार साकेत उनका 5 माह का वेतन जारी कराने के एवज में 20 हजार रूपए की रिश्वत की मांग की। जब इतनी राशि नहीं दे पाने की बात कही तो मामला 10 हजार रुपए पर तय हुआ। गुरुवार को  जब चपरासी 10 हजार रुपए लेकर प्रभारी प्राचार्य के पास पहुंचा तो पहले से तैयार लोकायुक्त की टीम ने प्रभारी प्राचार्य को स्कूल के अंदर ही धर दबोचा। 


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image