प्रभारी प्राचार्य ने चपरासी से मांगी रिश्वत ,10 हजार की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने किया गिरफ्तार

प्रभारी प्राचार्य ने स्कूल के ही चपरासी को 5 महीने का वेतन जारी कराने के एवज में 10 हजार की रिश्वत की मांग की थी



शहडोल/लोकायुक्त की टीम ने गुरुवार को दबिश देकर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य को 10 हजार की रिश्वत के साथ एक रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। प्रभारी प्राचार्य ने स्कूल के ही चपरासी को 5 महीने का वेतन जारी कराने के एवज में 10 हजार की रिश्वत की मांग की थी। मामला शहडोल जिले के चितरांव गांव का है, जहां के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में राजकुमार साकेत प्रभारी प्राचार्य हैं। स्कूल के चपरासी गायत्री वैश्य ने लोकायुक्त शहडोल से शिकायत की थी कि विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य राजकुमार साकेत उनका 5 माह का वेतन जारी कराने के एवज में 20 हजार रूपए की रिश्वत की मांग की। जब इतनी राशि नहीं दे पाने की बात कही तो मामला 10 हजार रुपए पर तय हुआ। गुरुवार को  जब चपरासी 10 हजार रुपए लेकर प्रभारी प्राचार्य के पास पहुंचा तो पहले से तैयार लोकायुक्त की टीम ने प्रभारी प्राचार्य को स्कूल के अंदर ही धर दबोचा। 


Popular posts
जिले के बिजुरी, कोतमा एवं बरगवां (अमलाई) के नगरीय निकाय निर्वाचन कार्यक्रम राज्य निर्वाचन आयोग ने किए घोषित
परिवारवाद’’,’’वंशवाद’’,’’भाई-भतीजावाद-चाचा-भतीजावाद’’ ’’अधिनायकवाद’’ एवं ’’जातिवाद’’! *लोकतंत्र के लिए खतरनाक? कैसे! कब! और क्यों? निदान!
Image
तुलसी रानी पटेल को मिला डॉक्टर आफ फिलासफी (पीएचडी)की उपाधि
Image
आखिर! माननीय ‘‘न्यायालय’’ ‘‘स्वयं की अवमानना‘‘ में क्यों लगा हुआ है?
18 मई को दद्दाजी की प्रथम पुण्यतिथि में शिष्य मंडल जरूरतमंद स्थानों पर भोजन पैकेट का वितरण करेगा
Image