30 हजार रुपए रिश्वत लेते महिला प्रधान आरक्षक व होमगार्ड को लोकायुक्त ने किया गिरफ्तार

सीधी की महिला ने शिकायत दर्ज कराई थी कि उसके बेटे के खिलाफ महिला थाने में शिकायत में अपराध दर्ज नहीं करने के बदले रिश्वत मांगी जा रही है। टीम ने ३०हजार रुपए लेते पकड़ा है। भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है



रीवा जिले में पीड़िता की शिकायत पर अपराध दर्ज नहीं करने के बदले 30 हजार रुपए रिश्वत लेते रीवा महिला थाने की महिला प्रधान आरक्षक और होमगार्ड महिलाकर्मी को लोकायुक्त पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया है। सीधी के सुकवारी गांव की महिला राधा साकेत ने शिकायत दर्ज कराई की महिला थाने में उसके पुत्र अतुल के विरुद्ध एक शिकायत आई है, जिसमें थाने की 3 महिला पुलिसकर्मी लगातार रिश्वत के लिए प्रताडित कर रही हैं और धमकी दी जा रही कि यदि रिश्वत नहीं दी तो ऐसी धाराएं लगाई जाएंगी जिनमें जमानत नहीं होगी और कई वर्षों के लिए वह जेल चला जाएगा। महिला ने थाने की प्रधान आरक्षक सुषमा तिवारी और अन्य महिला पुलिसकर्मियों द्वारा रिश्वत मांगने से जुड़ी फोन रिकार्डिंग की आडियो भी सौंपी थी।शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस अधिक्षक ने जांच के लिए अधिकारियों को भेजा। शिकायत के तथ्यों की पुष्टि होने पर कार्रवाई के लिए टीम को भेजा गया l शिकायतकर्ता राधा साकेत और उसका पुत्र दोपहर करीब दो बजे रिश्वत को लेकर महिला थाने पहुंचे, जहां रुपए देने के बाद बाहर मौजूद लोकायुक्त टीम को इशारा कर दिया गया lथाने के भीतर पहुंचे लोकायुक्त अधिकारियों ने प्रधान आरक्षक सुषमा तिवारी निवासी पुष्पराज नगर और रमा वर्मा साकेत निवासी बेला रामपुर बघेलान का हाथ धुलवाया तो रिश्वत की रकम लेने की वजह से हाथ से रंग छूटने लगा। रिश्वत के रुपए बरामद करने के बाद दोनों के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।लोकायुक्त की टीम द्वारा ट्रेप की कार्रवाई संज्ञान में आने के बाद प्रभारी पुलिस अधीक्षक शिवकुमार वर्मा ने थाना प्रभारी कल्याणी पाल और प्रधान आरक्षक सुषमा तिवारी को लाइन अटैच कर दिया है।


 


Popular posts
महात्मा गांधी, एवं स्व. श्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर एक दिवसीय वालीबाल प्रतियोगिता का आयोजन, बरगवां यूथ ब्रिगेड रही विजेता
Image
मध्य प्रदेश में सियासी हलचल तेज, मंत्री बिसाहूलाल सिंह को भोपाल लेजाने अचानक पंहुचा हेलीकॉप्टर
Image
राज्यपाल के कार्यक्रम में जनजाति समाज के लोगों के जीवन को खतरे में डालने कि इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्‍वविदयालय की साजिश .
Image
जातिगत आरक्षण को समाप्त कर आर्थिक आरक्षण व्यवस्था लागू करने की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन
Image
अमरकंटक, चित्रकूट, गरीब रथ, शक्तिपुंज, सोमनाथ एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने की मंजूरी
Image