एसडीएम के खिलाफ भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज,किसान से नक्शा सुधारने के लिए दो लाख रुपए,की रिश्वत मांगी ,

किसान से नक्शा सुधारने के लिए मांगे थे दो लाख रुपए, 50 हजाररु.गेस्ट हाउस में लिए, एसडीएम के खिलाफ भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज



भोपाल।  मध्य प्रदेश लोकायुक्त पुलिस संगठनकी भोपाल इकाई ने बुदनी एसडीएम वरुण अवस्थी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। अवस्थी पर आरोप है कि उन्होंने किसान से नक्शा सुधारने के लिए 2 लाख रुपए की रिश्वत मांगी। जिसमें से वह 50 हजार रुपए ले चुके थे। बाकी की रकम लेते मामला लोकायुक्त पुलिस  के पास पहुंच गया। इस बात की खबर एसडीएम को भी लग गई और वह कार्यालय छोड़कर भाग खड़े हुए। लोकायुक्त पुलिस ने बताया कि शिकायत सीहोर जिले के रेहटी में रहने वाले जितेन्द्र गौर ने की थी। उसकी इटावा गांव के जदीद में जमीन हैं। यह खेती वाली जमीन है जिसका नक्शा सुधारकर डायवर्सन किया जाना था। इसके लिए जितेन्द्र गौर ने बुधनी एसडीएम वरुण अवस्थी के कार्यालय में आवेदन दिया था। इस काम के बदले में वरुण अवस्थी ने दो लाख रुपए मांगे थे। जिसकी पहली किस्त जितेन्द्र गौर ने 1 मार्च को दी थी। इस दिन रविवार था इसके बावजूद जितेन्द्र गौर को वर्धमान फेब्रिक्स कंपनी के नर्मदा गेस्ट हाउस के कमरा नंबर 12 में उसे बुलाया गया था। इस बात की पुष्टि गेस्ट हाउस के रजिस्टर से हुई है। एसडीएम ने बाकी रकम लेकर 6 मार्च को बुलाया था। जिसकी शिकायत जितेन्द्र गौर ने 3 मार्च लोकायुक्त पुलिस संगठन से कर दी थी। रिश्वत मांगने की लगभग एक घंटा लंबी बातचीत की रिकॉर्डिंग भी की गई। डीएसपी नवीन अवस्थी, टीआई मुकेश तिवारी कार्रवाई के लिए पहुंचे तो बुदनी एसडीएम भाग खड़े हुए। हालांकि बाद में उन्हें लोकायुक्त पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image