कोरोना अलर्ट /पुलिस ने 101 दिन बाद शाहीन बाग प्रदर्शन स्थल को कराया खाली,

कोरोनावायरस के प्रकोप को देखते हुए नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ दिल्ली के शाहीनबाग में चल रहे विरोध प्रदर्शन को पुलिस ने खत्म करा दिया है. दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग के बंद पड़े रास्ते को खोल दिया है.कुछ प्रदर्शनकारियों को आदेश नहीं मानने की वजह से हिरासत में लिया गया है.



कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए दिल्ली में पूरी तरह से लॉकडाउन है। शहर में धारा 144 लगाई गई है। दिल्ली पुलिस ने लॉकडाउन के बीच शाहीन बाग में बैठे प्रदर्शनकारियों को हटा दिया है। शाहीन बाग में लगे टेंट-तख्तों को भी हटा दिया गया है। जिन प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन स्थल को खाली कराने का विरोध किया, उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इलाके में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है।शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ जारी प्रदर्शन को तीन महीने से ज्यादा का समय बीत चुका था। 15 दिसंबर 2019 से नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू किया गया था। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि सीएए संविधान और देश की जतना के खिलाफ है। वे केंद्र की मोदी सरकार से सीएए को वापस लिए जाने की मांग कर रहे थे। सीएए प्रदर्शनकारी केंद्र सरकार से इस मुद्दे पर बातचीत करने के लिए भी तैयार थे, लेकिन इन तीन महीनों में एक बार भी मोदी सरकार की ओर से बातचीत की पहल नहीं की गई। हालांकि इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने इसका हल निकालने कोशिश जरूर की, लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला। सुप्रीम कोर्ट में यह मामला लंबित है। इस बीच शाहीन बाग प्रदर्शन को कोरोना वायरस का हवाला देते हुए पुलिस ने खत्म करा दिया है।


 


 


 


Popular posts
परिवारवाद’’,’’वंशवाद’’,’’भाई-भतीजावाद-चाचा-भतीजावाद’’ ’’अधिनायकवाद’’ एवं ’’जातिवाद’’! *लोकतंत्र के लिए खतरनाक? कैसे! कब! और क्यों? निदान!
Image
18 मई को दद्दाजी की प्रथम पुण्यतिथि में शिष्य मंडल जरूरतमंद स्थानों पर भोजन पैकेट का वितरण करेगा
Image
लॉकडाउन के दौरान अनुपपुर में शराब के लिए महुआ का  परिवहन  जोरो पर, धारा 144 का उलंघन
Image
गुना में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या से सनसनी, काले हिरण के शिकारियों ने रात में मारी गोली
Image
बिहार में एनजीओ के किचन में ब्लास्ट
Image