मप्र /छह विधायकों का इस्तीफा स्वीकार, कांग्रेस ने अपने विधायकों जारी किया व्हिप

कांग्रेस ने शनिवार को व्हिप जारी कर अपने सभी विधायकों को 16 मार्च से शुरू होने वाले विधानसभा के बजट सत्र में आवश्यक रूप से रोजाना उपस्थित रहने और मतदान की स्थिति में सरकार के पक्ष में अपना मत देने के लिए कहा



भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष श्री एनपी प्रजापति ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने वाले 22 में से 6 विधायकों के इस्तीफे मंजूर कर लिए हैं। यह सभी विधायक कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री थे जिन्हें पिछले दिनों पद से हटा दिया गया था। मध्यप्रदेश विधानसभा के स्पीकर श्री एनपी प्रजापति ने इस्तीफा देने वाले सभी विधायकों को नोटिस देकर अपने समक्ष प्रस्तुत होने के लिए कहा था  लेकिन वो विधायक स्पीकर एनपी प्रजापति के समक्छ प्रस्तुत नहीं हुए ,स्पीकर ने कहा कि विधायकों का आचरण अयोग्य है जिस कारण उनके पद से उन्हें बर्खास्त किया जा रहा हैस्पीकर ने कहा कि कल मैंने इन बागी विधायकों का समय खत्म होने के 3 घंटे बाद तक इंतजार किया पर विधायक समय पर उपस्थित नहीं हुए.  विधायकों का इस्तीफा नियम 276 के तहत मंजूर किया गया है स्पीकर ने कहा कि विधायकों का आचरण आश्चर्यजनक रहा बर्खास्त छह विधायक में  गोविन्द राजपूत, इमारती देवी, तुलसी सिलावट, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रभुराम चौधरी और प्रधूमन सिंह तोमर शामिल  हैं। 


वही  कांग्रेस ने शनिवार को व्हिप जारी कर अपने सभी विधायकों को 16 मार्च से शुरू होने वाले विधानसभा के बजट सत्र में आवश्यक रूप से रोजाना उपस्थित रहने और मतदान की स्थिति में सरकार के पक्ष में अपना मत देने के लिए कहा है। कांग्रेस विधायक दल के मुख्य सचेतक एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ। गोविंद सिंह ने पार्टी की ओर से तीन लाइन का एक व्हिप जारी करके विधायकों को पाबंद किया है, ताकि वे बजट सत्र की गंभीरता को समझते हुए सदन में उपस्थित रहें और कांग्रेस सरकार का समर्थन करें।


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image