राज्यपाल लालजी टंडन से मिलकर सीएम कमलनाथ,हॉर्सट्रेडिंग का आरोप लगाया और फ्लोर टेस्ट कराने की मांग


मध्यप्रदेश में सियासी घटनाक्रमों के लगातार जारी रहने के बीच गुरुवार को राज्यपाल लालजी टंडन से मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुलाकात कर एक पत्र सौंपा जिसमें  राज्यपाल लालजी टंडन से फ्लोर टेस्ट को  लेकर तारीख मांगी हैऔर  भारतीय जनता पार्टी पर विधायकों की 'हॉर्सट्रेडिंग' का आरोप लगाया।  तीन पेज का यह पत्र राज्यपाल को सौंपने के साथ ही कमलनाथ ने उन्हें राजनैतिक हालातों से अवगत कराया।कमलनाथ ने बीजेपी द्वारा विधायकों को बंधक बनाने का आरोप लगाया है और राज्यपाल से अनुरोध किया गया कि वह 'बेंगलुरु में कैद में रखे गए विधायकों की रिहाई' सुनिश्चित करें। कमलनाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन को सौंपे पत्र में विधानसभा अध्यक्ष द्वारा आगामी सत्र में फ्लोर टेस्ट कराने का अनुरोध किया है।इस बीच यह भी खबर आ रही है की बेंगलुरु गए सिंधिया समर्थक विधायक थोड़ी देर में भोपाल पहुंच सकते है । एयरपोर्ट से विधानसभा तक की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। मंत्रियों-विधायकों के गनमैन को एयरपोर्ट भेजा गया है। ये विधायकों को एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद सुरक्षा घेरे में लेंगे।  इसके बाद इनमें कुछ विधानसभा स्पीकर के सामने उपस्थित हो सकते हैं। सभी विधायक विधानसभा स्पीकर को अपना इस्तीफा भेज चुके हैं। स्पीकर एनपी प्रजापति ने इस्तीफा देने वाले 22 विधायकों को गुरुवार को नोटिस जारी कर उपस्थित होने के लिए कहा था।