थाना प्रभारी ने दिखाई मानवता, प्रवासी मजदूरों को गृह स्थान पहुचाने हेतु की व्यवस्था

अनुराग त्रिपाठी :-


शहडोल /लॉकडाउन की वजह से हजारों की संख्या में मजदूरों व अन्य पेशे से जुड़े कामगारों के सामने दो जून की रोटी का संकट पैदा हो गया है. काम नहीं है, पैसे नहीं हैं, बसें व ट्रेनें भी नहीं चल रही हैं, लिहाजा मजदूर पैदल ही सैकड़ों मील का सफर तय करने को मजबूर हैं. छत्तीसगढ़ के रायपुर से अमझोर पैदल आ रहे 7 प्रवासी मजदूर शहडोल  की सीमा में पहुंचे। जहां भूख और प्यास से तड़पते हुए उन्होने जिला शहडोल ग्राम जैतपुर पहुंचे । जहां भूख और थकान से परेशान सभी प्रवासी मजदूर ने थकहार कर  ग्रामीणो से मदद मांगी। जहां ग्रामीणो ने पुलिस को फोन कर सभी 7मजदूरों के संबंध में जानकारी दी गई। सूचना मिलते ही चौकी प्रभारी वीरेंद्र तिवारी और समाज सेवी  आदित्य सिंह ने मौके पर पहुंच कर  जैतपुर थाना प्रभारी  संघप्रिय सम्राट  द्वारा अमझोर पहुचाने की व्यवस्था की गई ।



 


Popular posts
महात्मा गांधी, एवं स्व. श्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर एक दिवसीय वालीबाल प्रतियोगिता का आयोजन, बरगवां यूथ ब्रिगेड रही विजेता
Image
मध्य प्रदेश में सियासी हलचल तेज, मंत्री बिसाहूलाल सिंह को भोपाल लेजाने अचानक पंहुचा हेलीकॉप्टर
Image
जातिगत आरक्षण को समाप्त कर आर्थिक आरक्षण व्यवस्था लागू करने की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन
Image
राज्यपाल के कार्यक्रम में जनजाति समाज के लोगों के जीवन को खतरे में डालने कि इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्‍वविदयालय की साजिश .
Image
अमरकंटक, चित्रकूट, गरीब रथ, शक्तिपुंज, सोमनाथ एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने की मंजूरी
Image