अंबेडकर जी भारतीय संविधान के वास्तुकार एवं एक महान विचारक थे-लक्ष्मण राव


लाँकडाउन का पालन करते हुए घर में ही मनाया गया अंबेडकर जी की जयंती


अनूपपुर /देश में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है, जिसे देखते हुए केंद्र  सरकार की ओर से  लॉकडाउन अवधि बढ़ा कर 3  मई तक कर दी गई  हैं. कोरोना संकट के बीच भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की 129वीं जयंती सादगी पूर्ण रूप से मनाई गई। लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए विभिन्न संगठनों ने घर पर ही बाबा साहेब को याद करते हुए उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किए।, जिससे सार्वजनिक स्थलों पर इस बार भीड़ नहीं उमड़ी।इस अवसर पर अनूपपुर में रेलवे मज़दूर कांग्रेस के जोनल सहायक महामंत्री लक्ष्मण राव ने भी अपने घर  में  लॉक डाउन और सामाजिक दूरी का पालन करते हुए बाबा साहब डॉ.भीमराव आंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण किया और दीप जलाए और  इस दौरान सभी साथियो से  उनके आदर्शों पर चलने की अपील की और कहा है कि डा. भीमराव अंबेडकर भारतीय संविधान के प्रमुख वास्तुकार एंव एक महान विचारक थे. उन्होंने सामाजिक न्याय और समानता के आदर्शों को बनाए रखने के लिए अपना जीवन समर्पित किया. उनकी दृष्टि हमेशा एक मार्गदर्शक एंव प्रकाश के रूप में थी.। इसके अलावा अन्य लोगो ने आंबेडकर जयंती पर लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए उनके hचित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया गया। डॉक्टर अंबेडकर की श्रद्धांजलि कार्यक्रम में सर्वप्रथम एसटीएस एसोसिएशन अनूपपुर शाखा के सहायक सचिव पी आर राव ने अंबेडकर जी के छायाचित्र में पुष्प अर्पित करते हुए दीप प्रज्वलित कर नमन किए तत्पश्चात अनूपपुर मजदूर कांग्रेस के शाखा के संजीव राव सदाशिव पांडे बीएस जोशी आरके साहू धान सिंह सतीश चौधरी गौतम करमाकर आदि ने भी अंबेडकर जी को श्रद्धांजलि अर्पित की


Popular posts
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
बरगवां हाईस्कूल को हायर सेकंडरी में उन्नयन करने की मांग
Image