पावर प्लांट का,राखड़ डैम टूटने से महिला की मौत, कई लापता, फसलें बर्बाद


सिंगरौली/मध्य प्रदेश के जिला सिंगरौली में स्थिति रिलायंस पावर प्लांट का ऐश डैम  टूटने से एक महिला की मौत हो गई है जबकि पांच लोग अभी भी लापता हैं। डैम टूटने से आस-पास के कई घरों में  मलबा भर गया है, कई एकड़ की फसलें भी बर्बाद हो गई हैं।सिंगरौली के बैढ़न थाना क्षेत्र से लगभग 15 किमी दूर सासन स्थित रिलायंस समूह के 3960 मेगावाट वाले अल्ट्रा पावर प्रोजेक्ट का सिद्धीखुर्द (हिर्रवाह) में बना राखड़ बांध शुक्रवार (10 अप्रैल 2020) शाम लगभग चार बजे टूट गया। पास का गांव हर्रहवा मलबे से पट गया है। बहाव इतना तेज था कि पांच से ज्यादा लोग अभी भी लापता हैं। एक महिला की मौत हो गई है जबकि दो लोगों की स्थिति अभी भी गंभीर है। लापता लोगों को बचाने के लिए वाराणसी से एनडीआरएफ की टीम बुलाई गई है।राखड़ बांध में बिजली संयंत्रों में कोयले के जलने के बाद निकली राख जिसे फ्लाई ऐश भी कहा जाता है, को जमा किया जाता है।ऐश डैम का मलबा नालियों से होते हुए रेणुका नदी पर बने रिहंद बांध में चला गया है। इस बांध से सिंगरौली-सोनभद्र के लगभग 20 लाख लोगों को पीने की पानी की सप्लाई होती है।पर्यावरण संरक्षण और वनों एवं प्राकृतिक संपदाओं के संरक्षण से संबंधित मामलों के निपटारे के लिए बने राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण अधिनियम  के अनुसार ऐश डैम में जो मलबा होता है उसमें भारी धातु जैसे-आर्सेनिक, सिलिका, एल्युमिनियम, पारा और आयरन होते हैं, जो दमा, फेफड़े में तकलीफ, टीबी और यहां तक कि कैंसर तक का कारण बन सकते है।