पलायन करते मजदूरों के पैर में पड़े छाले, भूखे प्यासे मजदूर पलायन को हैं मजबूर,स्थानीय लोगो ने की खाने की व्यवस्था

अमलाई /लॉकडाउन 2 के दौरान जहां-तहां फंसे मजदूरों की स्थिति दयनीय होने लगी है. इस कारण मजदूरों ने पलायन करना शुरू कर दिया है. लॉकडाउन के कारण काम धंधा बंद होने के कारण लोगों के पास घर वापस लौटने के सिवा कोई चारा नहीं बच गया था. लेकिन घर वापस लौटने के लिए कोई गाड़ी की व्यवस्था नहीं होने के कारण सभी पैदल ही चल दिए.प्रयागराज से रायपुर लौट रहे करीब 35 मजदूरों महिला बच्चो सहित  अमलाई बापू चौक  में दिखा. सैकड़ों किमी चल कर ये मजदूर आज अमलाई पहुंचे थे इनके  मजदूरों के पैर में छाले पड़ गए हैं.इन लोगों का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान इनके पास खाने के लिए  पैसे नहीं बचे  थे , इस कारण इन्हें खाने की दिक्कत का सामना करना पड़ा.और ये वापस अपने घर को चल दिए .स्थानीय लोगों की मदद से इन लोगों के को पिकअप द्वारा चचाई स्थित पंडित दिन दयाल जनता रसोई में खाने की व्यवस्था की गई, साथ ही 10 मजदूरों का  जत्था रायपुर से सतना के लिए पलायन कर रहा था इन्हे अमलाई रेलवे लाइन में  चलते देख स्थानीय समाजसेवियो द्वारा साई जनता रसोई में भोजन पानी की व्यवस्था करा कर , प्रशासन को अवगत कराया गया, प्रशासन इन लोगों को सरकारी मदद पहुंचाने का प्रयास कर रहा है



 




 



Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image