समस्त 282 ग्राम पंचायतों में मनरेगा एवं प्रधानमंत्री आवास के कार्य करें प्रारम्भ - कलेक्टर

निर्माण विभाग ग्रामीण क्षेत्रों में सम्बंधित एसडीएम एवं नगरीय क्षेत्रों में कलेक्टर को श्रमिकों की सूची प्रेषित कर कार्य शुरू कर सकते हैं



अनूपपुर /कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने भारत शासन गृह विभाग के निर्देशानुसार अनूपपुर ज़िले की समस्त 282 ग्राम पंचायतों में रोज़गार सृजन के लिए मनरेगा कार्यों को प्राथमिकता के साथ शुरू करने हेतु सम्बंधित सीईओ जनपद को निर्देश दिए हैं। आपने यह भी कहा कि जल संरक्षण एवं जल संवर्धन कार्यों जैसे खेत तालाब, मेड़ बधान आदि श्रमिक आधारित कार्यों को मनरेगा के तहत प्राथमिकता दी जाय। वर्तमान में 198 ग्राम पंचायतों में 5927 श्रमिक कार्य कर रहे हैं।उल्लेखनीय है कि डिंडोरी एवं पेंड्रा-गौरेला-मरवाही से लगे जिलो में मनरेगा कार्यों हेतु एहतियातन रोक लगायी गयी थी, सम्बंधित स्थलों में कोरोना प्रकरण की नियंत्रित स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर द्वारा उक्त प्रतिबंध को हटा लिया गया है एवं समस्त पंचायतों में अधिक से अधिक संख्या में श्रमिकों को रोज़गार दिलाने के निर्देश दिए गए हैं।   इसके साथ ही प्रधानमंत्री आवास कार्यों में भी गति लाने हेतु निर्देशित करते हुए कलेक्टर ने कहा कार्य के दौरान सामाजिक दूरी (2 व्यक्तियों के बीच न्यूनतम 1 मीटर की दूरी), चेहरे को मास्क अथवा गमछे आदि से ढँकना अनिवार्य है। साथ ही ऐसे श्रमिक जिन्हें सर्दी, खाँसी, बुखार, साँस लेने में तकलीफ़ है, उन्हें कार्य में न लगाकर उनकी स्वास्थ्य जाँच करवाई जाय।  विभिन्न निर्माण विभागों के कार्य के सम्बंध में कलेक्टर ने स्पष्ट किया कि सम्बंधित निर्माण एजेंसियाँ पीडबल्यूडी, एमपीआरडीसी आदि अपने निर्माण कार्यों में लगने वाले श्रमिकों की सूची, कार्य एवं कार्यस्थल के विवरण के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में सम्बंधित एसडीएम एवं शहरी/ नगरीय क्षेत्रों में कलेक्टर को लिखित रूप से सूचित कर कार्य प्रारम्भ कर सकते हैं। कार्य के दौरान सामाजिक दूरी एवं कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु आवश्यक सावधानियों का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित करना होगा।  निर्माण कार्यों हेतु सामग्री की आपूर्ति हेतु प्रतिबंध से भारत सरकार गृह मंत्रालय के निर्देशानुसार छूट रहेगी, सम्बंधित सेवा प्रदाता सामाजिक दूरी की पालना के साथ सामग्रियों की आपूर्ति कर सकेंगे।


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image