क्या नगर पंचायत के नाम सुनते ही होने लगा सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण !

प्रशासन की ओर से गुरुवार को क्षेत्र में हुए अवैध निर्माण को हटाने में की गई कार्रवाई , लगभग 10 घंटे के अंदर प्रशासन ने हटाया अवैध निर्माण



राजनगर ! अनूपपुर जिले के आखिरी छोर पर बसा बनगवां पंचायत में जब से यह बात लोगो तक पहुंची है कि बनगवां पंचायत अब ग्राम पंचायत न रहा, अब उसका उन्नयन करके नगर पंचायत किया जा रहा है तब से मानो तो लोगों का हुजूम बन चुका है प्रशासन के जमीनों पर अवैध रूप से कब्जा करना ! बनगवां पंचायत के अंतर्गत बड़ी भालमुडी के जहां शासकीय छात्रावास एवं शासकीय महाविद्यालय का निर्माण कार्य चल रहा है जिसके विकास को देखते हुए कई भू-माफिया सरकारी जमीनों को निशाना बनाना शुरू कर दिये हैं ऐसा ही मामला तब सामने आया जब देर रात बड़ी भालमुडी में अज्ञात व्यक्ति द्वारा रातों रात शासकीय भूमि पर एक अवैध मकान निर्माण किया गया था जैसे ही प्रशासन को इसकी सूचना मिली 10 घंटे के भीतर ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई। इस दौरान शांति व्यवस्था के लिए तहसीलदार के निर्देश पर पटवारी तथा पुलिस जाब्ता तैनात रहे ! मालूम हो कि इन दिनों बनगवां, ग्राम पंचायत से उन्नयन होकर नगर पंचायत कर दिया गया है जिसके चलते जमीन का धंधा तेजी के साथ फल-फूल रहा है। भू-माफिया ने सरकारी जमीनों को निशाना बनाना शुरू कर दिया। भू माफिया सरकारी जमीनों पर अवैध रूप से कब्जा कर उन्हें एग्रीमेंट ((अनुबंध)) के आधार पर सस्ते दामों में लोगों को बेचने का इरादा बना रहे है । इस कारोबार की जानकारी प्रशासन को आते ही साथ कार्यवाही करना शुरू कर दिया गया है !