नगरपालिका बिजुरी मैं उपाध्यक्ष के खिलाफ भाजपा तथा कांग्रेश दोनों लामबंद


बिजूरी अनूपपुर /नगरपालिका बिजुरी मैं उपाध्यक्ष को गिराने को लेकर भाजपा तथा कांग्रेश दोनों ही पार्टियों राजनीति शुरू कर दी है जिसको लेकर कुछ दिनों पूर्व नगर के एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता के नेतृत्व में सभी पार्षद कलेक्टर कार्यालय पहुंचे जहां नगर पालिका बिजुरी की उपाध्यक्ष नीलम सचिन जैन के कार्य पर अविश्वास जताते हुए हटाए जाने की मांग की गई अब बता रहे हैं निर्दलीय नगर पालिका बिजुरी में हुए चुनाव पार्षदों के द्वारा सर्वसम्मति से निर्दलीय प्रत्याशी नीलम जैन को उपाध्यक्ष चुना गया था जिसके बाद भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के द्वारा उन्हें सदस्यता भी दिलाई गई थी लेकिन अब 2 वर्ष बीत जाने के बाद भाजपाई पार्षद उन्हें ही निर्दलीय पार्षद कहते हुए हटाए जाने को लेकर एकजुट हुए हैं वही इस पूरे मामले पर भाजपा संगठन चुप्पी साधे हुए हैं


 दोनों ही दलों के नेता हुए एकजुट


 इस पूरे मामले में यह बात बेहद दिलचस्प है कि उपाध्यक्ष को पद से हटाने के लिए भाजपा तथा कांग्रेस के नेता एकजुट हो गए हैं मामले की शिकायत करने के दौरान ही किसान कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष पूरे समय पार्षदों के साथ मौजूद रहे वहीं भाजपा के पार्षदों को एकजुट करने में पूर्व मंडल अध्यक्ष व पार्षद मुकेश जैन की भूमिका नजर आ रही 


अपने ही पार्टी के उपाध्यक्ष को हटाने क्यों हो रही साजिश


   इस पूरे मामले में जहां यह देखने को मिल रहा है की जहां एक ओर अनूपपुर विधानसभा मैं होने वाले उपचुनाव को देखते हुए रविवार को बिसाहू लाल सिंह तथा भाजपा के वरिष्ठ नेता राजेंद्र शुक्ला की मौजूदगी में जैतहरी तथा पासान नगरपालिका के अध्यक्ष में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की जिससे पार्टी और मजबूत हुई है वहीं दूसरी ओर अपनी ही पार्टी के उपाध्यक्ष को गिराने के लिए हो रहे सियासी साजिश को भाजपा संगठन नजरअंदाज कर रहा है जिससे भविष्य में भाजपा को नुकसान का सामना करना पड़ सकता है


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image