कन्यादान योजना की प्रोत्शाहन राशि घटाने पर नहीं बल्कि बढ़ाने पर विचार होना चाहिए : प्रेमकुमार त्रिपाठी


अनूपपुर /कन्यादान योजना में  नवविवाहितों को ग्रहस्थी शुरू करने के लिए शिवराज सरकार पिछले कार्यकाल में योजना के तहत दिए जा रहे 28 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि को बढ़ते हुए कमलनाथ सरकार ने राशि को 51 हजार करने और किसान कर्जमाफी जैसे जन हितैषी फैसला लिया था लेकिन भाजपा ने कांग्रेस की सरकार में खरीद-फरोख्त कर उसे गिराने के बाद सत्ता में आई भाजपा  कमलनाथ सरकार द्वारा लिए गए जन हितैषी निर्णय को पलटने का कार्य कर रही है  भाजपा उन घोषणाओं को कभी पूरा नहीं होने देगी जिसे कांग्रेस सरकार ने लिया था , शिवराज सरकार कन्यादान योजना’ के तहत दी जाने वाली राशि को घटाने पर विचार कर रही है। इसके तहत मिलने वाले 51 हजार रुपये की बजाए अब पहले की ही तरह 28 हजार रुपये देने पर निर्णय करने वाली है , मप्र के सरकार के सामाजिक न्याय मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने कहा कि 51 हजार रुपये की सहायता राशि बहुत ज्यादा है और इस राशि से मध्यप्रदेश सरकार पर अतिरिक्त बोझ आएगा, इसलिए इसे वापस 28 हजार रुपये किये जाने की बात कही ,अगर भाजपा कमलनाथ सरकार की फैसले को बदलना ही चाहते है तो फिर उन्हें इस योजना के तहत दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि को 51000 से बढाकर एक लाख करना चाहिए।यह बात कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव श्री प्रेमकुमार त्रिपाठी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा ,श्री त्रिपाठी ने यह भी कहा की मप्र शासन के सामाजिक न्याय मंत्री प्रेम सिंह पटेल द्वारा इस योजना में दी जा रहीं राशि को घटाने सम्बन्धी जारी बयान भाजपा सरकार की  मानसिकता को उजागर करते है ,  सामाजिक न्याय मंत्री दवारा जारी अपने बयान में प्रदेश की जनता के साथ न्याय नहीं अन्याय की बाते  कर रहे है ,अगर राज्य सरकार इस योजना की राशि को घटाने का निर्णय लेती है तो प्रदेश कांग्रेस कार्यकर्ता इस निर्णय के खिलाफ सड़को पर आंदोलन करेंगे 


 


Popular posts
अनूपपुर जिला डाक विभाग की जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया गया
Image
22 जनवरी को जनजातीय विश्वविद्यालय में भी अवकाश घोषित करने मुख्यमंत्री मोहन यादव, जिलाधीश और विश्वविद्यालय प्रशासन को सौपा गया ज्ञापन
Image
सरोवर भ्रष्टाचार के साथ आर्थिक आय का उद्गम स्थल :बृजेन्द्र पंत।
Image
संपूर्ण राजनगर हुआ राम मय,कलश यात्रा हेतु पीला चावल देकर किया आमंत्रित
Image
सांसद ने नहीं किया कोई प्रयास सूचना अधिकार में हुआ खुलासा अनूपपुर तक विस्तारीकरण का नहीं कोई प्रस्ताव
Image