बाल श्रमिकों से कराया जा रहा है,ग्राम पंचायत कोठी में पीसीसी सड़क का निर्माण कार्य


प्रदीप मिश्रा कोतमा :-


अनूपपुर /ग्राम  कोठी में निर्माणाधीन पीसीसी रोड निर्माण स्थल शांति नगर से सीतामढ़ी  उसकी लंबाई 168 मीटर एवं लागत 500000 रुपए  निर्माण कार्य मे शुरू किए जाने से पूर्ण निर्माण स्थल में कोई  बोर्ड जो की निर्माण   कार्य प्रारंभ करने के पूर्व में मध्य प्रदेश शासन द्वारा स्पष्ट रूप से समस्त निर्माण एजेंसियों को निर्देशित किए जाने के उपरांत भी नहीं लगाया गया है संबंधित निर्माण  कार्य मे कार्यरत श्रमिकों को यह भी ज्ञान नहीं है की हमारी दैनिक मजदूरी की दर क्या हो गी उक्त पीसीसी रोड मे निर्माण  कार्य मे कितने एमएम की गिट्टी से ढलाई  होगी तथा   उक्त पीसीसी रोड की मोटाई कितनी होगी  का कोई भी बोर्ड उक्त निर्माण स्थल के पास नहीं लगाया गया हैं इतना ही नहीं उक्त निर्माण कार्य  में जो भी श्रमिक कार्य कर रहे हैं उनमें बहुत आया श्रमिक बाल  श्रमिक  हैं संबंधित निर्माण एजेंसी दिलेरी से ऐसे अवश्य श्रमिकों से पीसीसी रोड में गिट्टी मिक्सचर मशीन संचालन का कार्य एवं निर्माण कार्य करवा रही है जहां मध्य प्रदेश शासन बच्चों की शिक्षा को लेकर सब पढ़ें सब बढ़े  एवं  अनेक योजना को बच्चों की भविष्य के लिए निकालती  है निर्माण कार्य पूरी तरह है से गुणवत्ता विहीन है घटिया स्तर का सीमेंट एवं घटिया स्तर की गिट्टी का प्रयोग किया जाता है यहां तक की सीमेंट भी निर्धारित मात्रा में नहीं मिलाया जा  रहा है  ग्रामीण वासियों द्वारा   कार्य स्थल पर  यह देखा गया की पीसीसी रोड निर्माण कार्य संबंधित कोई बोर्ड नहीं लगाया गया है एवं उक्त निर्माण कार्य में  बाल  श्रमिक कार्यरत हैं जिनका वीडियो प्रतिदिन सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है एवं जनपद पंचायत कोतमा के कोई   जिम्मेदार अधिकारी  कारवाही  करने से  कतराते हैं अब देखना यह है की प्रशासन के द्वारा संबंधित निर्माण एजेंसियों के ऊपर क्या कार्यवाही की जाति है यह एक  जांच का विषय है|


Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image