कृषि कानूनों के विरोध में मप्र कांग्रेस का एलान 15 जनवरी को हर जिले में 2 घंटे चक्काजाम, 23 को करेंगे राजभवन का घेराव

कमल नाथ ने एमएसपी को कानूनी रूप देने के साथ तीनों कानूनों को रद्द करने की मांग की। साथ ही कहा कि कांग्रेस द्वारा सात से 15 जनवरी तक एक दिन का धरना, प्रदर्शन और बैठक होगी। इसके अलावा 15 जनवरी को दोपहर 12 बजे से दो घंटों किसानों द्वारा चक्काजाम किया जाएगा। इस चक्का जाम की शुरुआत और अंत में दो मिनट का हॉर्न-शंखनाद होगा। 20 जनवरी को मुरैना में किसान महापंचायत होगी और 23 जनवरी को राजभवन का घेराव होगा।

भोपाल /कृषि कानून के खिलाफ  दिल्ली में जारी किसान आंदोलन के समर्थन में मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने 15 जनवरी को किसान कानूनों के विरोध में दो घंटे का राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने कहा है कि इस दिन दो मिनट का हॉर्न-शंखनाद होगा और दो घंटे तक चक्का जाम रखा जाएगा। इसके बाद 23 जनवरी को राजभवन का घेराव होगा।उन्होंने केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों को किसान विरोधी करार देते हुए कहा कि इन कानूनों से कृषि उत्पाद के बाजारों पर कार्पोरेट घरानों का कब्जा हो जाएगा और छोटे व्यापारियों का व्यापार और व्यापारिक प्रतिस्पर्धा खत्म हो जाएगी। नतीजतन, बड़े व्यापारी मनमानी करेंगे। 


Popular posts
जनप्रतिनिधियों और मुख्य नगरपालिका अधिकारी आपस में सामंजस्य स्थापित कर करे अनूपपुर का विकास : श्रीमती डॉक्टर प्रवीण त्रिपाठी
Image
जंगली सुअर के शिकार के लिए लगाए गए धारा प्रवाहित तार में फंसने से किसान हुई मौत
Image
सॉफ्टबेसबॉल में संभाग को मिले दस नये राष्ट्रीय रेफरी
Image
शंकर बाबू की धर्मपत्नी दुलारी शर्मा के निधन पर आर्यवर्त ब्राह्मण महासभा के द्वारा दी गई श्रद्धांजलि
Image
पेसा एक्ट जल्दबाजी में लिया गया शिवराज सरकार का निर्णय यह चुनावी स्टंट है-फुंदेलाल सिंह मार्को
Image