सीधी बस हादसा: 51 की जल समाधी

 मध्य प्रदेश के  सीधी जिले में मंगलवार सुबह 7:30 बजे बड़ा हादसा हो गया ,हादसे में एक  बस के नहर में गिरने से 51 लोग मारे गए . इनमें बत्तीस वे युवा हैं जो एन टी पी सी  में नौकरी के लिए इम्तेहान देने जा रहे  थे 


सीधी /मध्य प्रदेश के सीधी जिले में यात्रियों से भरी बस अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी और गहरे पानी में समा गई है. सीधी से सतना के बीच चलने वाली बसें सुबह के समय खाली ही जाती हैं लेकिन मंगलवार को एनटीपीसी का एग्जाम था। रीवा और सतना में परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। 32 सीटर बस में ज्यादा युवा ही थे, वह परीक्षा देने रीवा और सतना आ रहे थे। बस में करीब 60 यात्री थे। इनमें से करीब 51 के शव मिल चुके हैं।मरने वालों में महिलाएं और  पुरुष सहित बच्चे भी शामिल है. इनमें से ज्यादातर लोग सीधी के रहने वाले थे. अभी तक वहीं 7 लोगों को जिंदा बचा लिया गया है.सीधी में नहर में गिरी जबलनाथ ट्रेवल्स की बस अगर अपना रूट नहीं बदलती तो लोगों की जान नहीं जाती। छुहिया घाटी से होकर बस रोजाना सतना के लिए जाती थी। मंगलवार की सुबह जाम लगने होने की वजह से ड्राइवर ने बस का रूट बदलकर नहर का रास्ता पकड़ा और यह हादसा हो गया। नेशनल हाईवे 39 स्थित छुहिया घाटी में जगह-जगह गड्ढे और पत्थर पड़ होने की वजह से हमेशा जाम की स्थिति बनी रहती है। यहां घंटों जाम में वाहन फंसे रहते हैं। यही वजह थी कि ड्राइवर बस को जल्दी ले जाने की चक्कर में रूट बदल दिया।सीधी बस दुर्घटना पर दुख जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'एमपी के सीधी में बस दुर्घटना भयावह है. शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना. स्थानीय प्रशासन बचाव और राहत कार्य में सक्रिय रूप से शामिल है.' इस घटना पर पीएमओ इंडिया ने ट्वीट कर बताया, 'मध्य प्रदेश के सीधी में बस दुर्घटना के कारण जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50 हजार रुपये दिए जाएंगे.सीधी में बस हादसे के बाद मध्य प्रदेश सरकार ने कैबिनेट बैठक के साथ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने 1 लाख 10 हजार परिवारों का प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत होने वाला गृह प्रवेश कार्यक्रम स्थगित कर दिया .  जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट और राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल भोपाल से हेलीकाप्टर से रीवा पहुंचे और फिर घटनास्थल का जायजा लिया. वहीं, बस हादसे में मरने वालों के परिजनों को मध्‍य प्रदेश सरकार ने 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है.

Popular posts
हिंदी दिवस में हुआ भव्य आयोजन (महिलाओं के लिए किया गया हिंदी संवर्धन पर विशेष कार्यक्रम
Image
मंत्री बिसाहूलाल सिंह के प्रयासों से चोलना पड़ोर मार्ग में उच्च स्तरीय पुल निर्माण की मिली स्वीकृति
Image
रेलवे फ्लाईओवर ब्रिज निर्माण में हो रही देरी को लेकर पूर्व विधायक रामलाल रौतेल करेंगे अनिश्चितकालीन उपवास
Image
परासी - तितरीपोंडी,पसला- चरतरिया, धिरौल- पटना मार्ग निर्माण शीघ्र
Image
कोरोना अलर्ट/देश के नाम जारी सन्देश में PM का एलान रात 12 बजे के बाद पूरा भारत 21 दिन तक लॉकडाउन
Image