जनपद सदस्य पवन चीनी के देवहरा में विद्युत् सबस्टेशन की मांग पर केबिनेट मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने लगाई मुंहर

अनुपपुर  /जैतहरी जनपद के जनपद सदस्य पवन चीनी ने मप्र शासन  के केबिनेट मंत्री बिसाहूलाल सिंह को लिखे पत्र में जिले के  देवहरा पटना ग्राम  में बिजली समस्या का समाधान करवाने हेतु 33 /11  केवीए विद्युत उपकेंद्र  की मांग की थी । पत्र में कहा गया है कि जिले के जैतहरी जनपद अंतरगत देवहरा पटना के साथ इसकी सीमा से लगे गावों  में बिजली की समस्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है।इन गावों में  काफी आबादी रहती है। जहा जंगली क्षेत्र होने के साथ साथ  लम्बी दूरी की लाइन के कारण यहाँ कम वोल्टेज, ट्रांसफार्मर की कमी सहित लंबे कटों की समस्या से ग्रामीण परेशान हैं।  यहाँ के रहवासियों  में बिजली की समस्या का स्थायी समाधान करने के लिए गांव में सब स्टेशन स्थापित किया जाए।सब स्टेशन खुलने से क्षेत्र के लोगों को काफी राहत मिलेगी और सही तरीके से बिजली आपूर्ति रह पाएगी, सब स्टेशन स्थापित होने से  इस क्षेत्र के गांवों को सुचारू रूप से विद्युत आपूर्ति मिल जाएगी एवं लोगों को काफी सुविधा होगी। आज आधुनिक दौर से गुजरने के कारण क्षेत्र के कई किसानों के पास बोरवेल ट्यूबवेल है जो कृषि कार्य में सिंचाई एवं अन्य कार्यों में सही तरीके से बिजली आपूर्ति नही होने के कारण शोपीस बन रहे हैं। क्षेत्र के किसान बिजली आपूर्ति सही तरीके से नहीं होने से  वर्ष में एक ही फसल की खेती करते हैं यदि बिजली आपूर्ति सही तरीके से होती तो खरीफ एवं रबि फसल की खेती करते, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है।जिस पर  माननीय मंत्री जी संज्ञान में लेते हुए रहवासियों की समस्याओं को देखते हुए  ३३/11 केवी सब स्टेशन बनाए जाने पर मुहर लगा दी है ,जिस पर माननीय कलेक्टर महोदय अनूपपुर दवारा देवहरा क्षेत्र के अंतरगत सकरा में जमीन का आवंटन भी कर दिया गया है,अब शीघ्र ही क्षेत्र रहवासियों को बिजली की समस्याओं से निजात मिलने की संभावना  दिखाई देने लगी है। 



Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image