रेलवे स्टेशन के बाहर लोकायुक्त की कार्रवाई, कार्यपालन अभियंता को तीन लाख की रिश्वत के साथ पकड़ा

जबलपुर लोकायुक्त ने एनएचएम के प्रभारी कार्यपालन यंत्री ऋषभ कुमार जैन केा आज सुबह भोपाल के हबीबगंज स्टेशन से 3 लाख की रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा है। जैन ने सिवनी जिले में अस्पताल निर्माण कार्य के भुगतान के एवज में जबलपुर के ठेकेदार से रिश्वत की मांग की थी।







जबलपुर  लोकायुक्त ने भोपाल के हबीबगंज स्टेशन के बाहर नेशनल रूरल हेल्थ मिशन  के इंजीनियर को 3 लाख रुपए (2 लाख नकद और 1 लाख रुपए का चेक) रिश्वत लेते हुए मंगलवार काे दबोचा है। आरोपी ने सिवनी जिला अस्पताल में 40 लाख रुपए के मेंटेनेंस बिल को पास करने के एवज में 10% की घूस मांगी थी। इंजीनियर ने पिछले एक साल से 5 लाख रुपए का आखिरी बिल अटका कर रखा था।जानकारी अनुशार 15 जुलाई को साईं विहार कॉलोनी सुहागी अधारताल जबलपुर निवासी  ठेकेदार चंद्रभान विश्वकर्मा ने शिकायत की थी। उन्होंने एक साल पहले सिवनी जिला अस्पताल में 40 लाख रुपए मेंटेनेंस का काम कराया था। इसका ठेका सतपुड़ा भवन स्थित राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भोपाल से हुआ था। वहीं से बिल भी पास होना था।राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, भोपाल में तैनात प्रभारी एक्जिक्यूटिव इंजीनियर ऋषभ जैन (58) पिछले एक साल से बिल भुगतान के लिए दौड़ा रहा था। ठेकेदार चंद्रभान विश्वकर्मा के मुताबिक, 35 लाख रुपए का बिल अलग-अलग पास हो चुका था। आखिरी के 5 लाख रुपए के लिए ऋषभ जैन परेशान कर रहा था। भुगतान के एवज में 10% कमीशन मांग रहा था। उन्होंने बताया कि एक लाख रुपए वह दे चुका है। तीन लाख रुपए और मांग रहे थे।लोकायुक्त एसपी ने शिकायतकर्ता को रिकॉर्डर देकर 16 जुलाई को आरोपी के पास भोपाल भेजा। वहां उनकी बातचीत को ट्रैप कराया। आरोपी ने रुपए लेकर 20 जुलाई की सुबह हबीबगंज स्टेशन के बाहर चंद्रभान विश्वकर्मा को बुलाया था। एसपी के निर्देश पर डीएसपी दिलीप झरबड़े की अगुवाई में टीआई स्पनिल दास गुप्ता, कमल सिंह उईके, नरेश बहरा, भूपेंद्र दीवान आरक्षक दिनेश दुबे, अमित मंडल, जीत सिंह की टीम ठेकेदार को लेकर सड़क मार्ग से भोपाल पहुंची आरोपी ऋषभ जैन ने ठेकेदार चंद्रभान विश्वकर्मा को हबीबगंज स्टेशन पर बुलाया था। सुबह नौ बजे चंद्रभान ने वहां पहुंचने की बात कही। चंद्रभान ने ट्रेन से आने के बारे में बताया था। सफेद कुर्ता पायजामा पहने ऋषभ जैन पहुंचा और जैसे ही रिश्वत की रकम ली, वहां मौजूद लोकायुक्त की टीम ने उसे दबोच लिया। आरोपी ने हाथ छुड़ाकर भागने की भी कोशिश की, लेकिन टीम ने पकड़ लिया। एक्जिक्यूटिव इंजीनियर ऋषभ जैन के चूनाभट्‌टी और नेहरू नगर में एक-एक मकान है। वहां भी छापे मारे गए हैं। वहां भी उनकी संपत्ति की जांच की जा रही है। 

Popular posts
‘लोकतंत्र के मंदिर’’ में ‘‘अर्द्धसत्य’’ कथन कर ‘‘न्याय मंदिर’’ व ‘‘जनता के मंदिर’’ को झूठला दिया गया?
Image
तनाव’’, ‘‘कारण-निवारण’’!
Image
पेगासस : पत्रकारों, जजों मंत्रियों आदि की जासूसी लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए अत्यंत खतरनाक , जांच ज़रूरी..
Image
क्या ‘‘वरूण’’ भारतीय राजनीति में (विलुप्त होते) ‘‘गांधीज़’’ (नाम) की परंपरा के सफल वाहक सिद्ध हो पायेगें
Image