कलेक्टर ने नगर पंचायत क्षेत्र अमरकंटक को किया जल परिरक्षण क्षेत्र घोषित

म.प्र. पेयजल परिरक्षण अधिनियम 1986 अंतर्गत नर्मदा नदी उद्गम स्थल अमरकंटक के 500 मीटर की परिधि में नलकूप खनन को प्रतिबंधित एवं नियंत्रित करने के लिए जल परिरक्षण क्षेत्र घोषित किए हैं। इस परिधि में सक्षम अधिकारी की अनुमति के बिना कोई भी व्यक्ति या संस्था नलकूप खनन नहीं कर सकेंगे।


अनूपपुर। नगर पंचायत क्षेत्र अमरकंटक में नर्मदा नदी के प्रवाह को अप्रभावित तथा मूल स्वरूप में रखे जाने हेतु कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने म.प्र. पेयजल परिरक्षण अधिनियम 1986 अंतर्गत नर्मदा नदी उद्गम स्थल अमरकंटक के 500 मीटर की परिधि में नलकूप खनन को प्रतिबंधित एवं नियंत्रित करने के लिए जल परिरक्षण क्षेत्र घोषित किए हैं। इस परिधि में सक्षम अधिकारी की अनुमति के बिना कोई भी व्यक्ति या संस्था नलकूप खनन नहीं कर सकेंगे। नलकूप खनन की अनुज्ञा तभी दी जाएगी, जब उस स्थल के 150 मीटर के भीतर कोई ऐसा नलकूप न हो जिस पर सार्वजनिक जल प्रदाय आधारित हो। यदि व्यक्ति या संस्था द्वारा बिना अनुमति के नलकूप खनन किया जाएगा, तो वह म.प्र. पेयजल परिरक्षण अधिनियम 1986 की धारा 9 के अंतर्गत 2 वर्ष के कारावास या जुर्माने से जो दो हजार तक हो सकेगा या दोनो से दंडनीय होगा। नलकूप खनन की अनुमति अपर कलेक्टर द्वारा दी जाएगी। नलकूप खनन हेतु बोरिंग मशीन का पंजीयन नहीं होने पर उसे जप्त कर कानूनी कार्यवाही की जाएगी। नगर पंचायत अमरकंटक क्षेत्र के समस्त व्यक्तियों जिनमें विधिक व्यक्ति, संस्था, शासकीय विभाग एवं निकाय सभी पर समान रूप से लागू होगा। 


Popular posts
नवगठित नगर परिषद पर मंत्री को गुलदस्ता भेंट कर क्षेत्र वासियों की तरफ से दी बधाई
Image
गुना में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या से सनसनी, काले हिरण के शिकारियों ने रात में मारी गोली
Image
कोतमा विधायक के बयानों को लेकर भाजपा ने की सामान्य प्रेक्षक से शिकायत  
Image
टैक्सी यूनियन ड्राइवर संघ अनूपपुर का गठन चैतन्य मिश्रा संरक्षक संजय चौधरी अध्यक्ष बने
Image
अतिक्रमण से पटा पूरा शहर सुर्खियों में आने नपा. ने हटाया मेन रोड का अतिक्रमण फिर सज गई सड़कों पर वही दुकाने
Image